close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: कर्ज माफी को लेकर BJP का वार, कहा- कांग्रेस सरकार किसानों को ठग रही है

बीजेपी ने कांग्रेस सरकार पर किसानों को ठगने और उनके साथ छलावे के आरोप लगाते हुए कहा कि अभी तक तो सरकार किसानों के डिफॉल्टर और दूसरे मामले भी तय नहीं कर पाई है

जयपुर: कर्ज माफी को लेकर BJP का वार, कहा- कांग्रेस सरकार किसानों को ठग रही है
बीजेपी ने कहा कांग्रेस सरकार राजस्थान में किसानों की कर्जमाफी पर अपने आदेश साफ नहीं कर पाई है

शशि मोहन/जयपुर: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को जयपुर आ रहे हैं. प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद यह राहुल गांधी का पहला दौरा है. किसान रैली को सम्भोदन के साथ ही राहुल गांधी लोकसभा चुनाव के लिए आगाज़ भी कर देंगे. उधर सत्ता से बाहर हुई बीजेपी ने राहुल गांधी के दौरे पर सवाल उठाना शुरू कर दिया है. बीजेपी का कहना है कि राजस्थान की धरती से वादे करने वाले कांग्रेस अध्यक्ष के आने से पहले सरकार कुछ वादे पूरे भी करती तो अच्छा होता. 

विधानसभा चुनाव में जीत के बाद राहुल गांधी पहली बार राजस्थान आ रहे हैं इस दौरान किसान रैली को सम्बोधित करते हुए दो तरफ़ा धन्यवाद का नज़रा दिखेगा. राहुल गांधी प्रदेश के लोगों को भरोसा जताने के लिए धन्यवाद देंगे तो कांग्रेस के नेता भी राहुल गांधी के संघर्ष के लिए अपने नेता का आभार जताएंगे. इसके साथ ही देशभर में किसानों की कर्ज माफी के लिए केन्द्र सरकार पर दबाव बनाने की मांग भी इस मंच से की जाएगी. 

वहीं जानकारों का कहना है कि कांग्रेस की इसी मांग से भारतीय जनता पार्टी चिन्तित हैं. लिहाजा राहुल गांधी के दौरे से ठीक पहले बीजेपी ने भी कांग्रेस अध्यक्ष के दौरे पर सवाल उठाए हैं. पूर्व मन्त्री और बीजेपी नेता राजेन्द्र राठौड़ कहते हैं कि सात मन्त्रियों की जम्बो कमेटी और नौ राज्यों के दौरे के बाद भी अभी तक कांग्रेस सरकार राजस्थान में किसानों की कर्जमाफी पर अपने आदेश साफ नहीं कर पाई है.

इसके साथ ही राठौड़ ने कहा कि कर्ज माफी के लिए बनी मन्त्रिमण्डलीय सब-कमेटी के अगुवा शान्ति धारीवाल कहते हैं कि आर्थिक कमजोरी के चलते पिछले दिनों प्रदेश के डेढ़ सौ किसानों ने अपनी जान दे दी. बीजेपी ने सरकार से यह सूची सार्वजनिक करने की मांग करने के साथ ही कर्ज माफी की रकम के आंकड़े पर भी सवाल उठाए हैं. राठौड़ कहते हैं कि प्रदेश में किसानों पर अलग-अलग बैंकों का कुल 99 हज़ार पांच सौ करोड़ रुपए का कर्जा है. ऐसे में सरकार के पास 18 हज़ार करोड़ का आंकड़ा कहां से आया?

राठौड़ ने कांग्रेस सरकार पर किसानों को ठगने और उनके साथ छलावे के आरोप लगाते हुए कहा कि अभी तक तो सरकार किसानों के डिफॉल्टर और दूसरे मामले भी तय नहीं कर पाई है. राठौड़ ने मुख्य सचिव के दस्तखत से जारी किये आदेश पर भी सरकार से सफाई की मांग की. इधर बीजेपी के प्रदेश महामन्त्री भजनलाल शर्मा कहते हैं कि राहुल गांधी को किसानों की रैली सम्बोधित ही करनी थी तो कर्ज माफी को धरातल पर तो आने देते. बीजेपी महामन्त्री ने कहा कि किसानों के साथ ही बेरोजगार और प्रदेश के युवा भी कांग्रेस के चुनाव पूर्व वादों के मुकम्मल होने का इन्तज़ार कर रहे हैं.

राहुल गांधी के दौरे से पहले बीजेपी के सवाल विपक्ष की आवाज़ के नाते सुने जा सकते हैं. लेकिन सवाल यह है कि क्या बीजेपी ने भी पांच साल पहले हुए सत्ता परिवर्तन के बाद एक महीने में ही अपने घोषणा-पत्र के तमाम वादे पूरे कर दिये थे या उसके लिए पूर्ववर्ती सरकार को भी वक्त लगा था?