close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल: मनीषा कोइराला ने बताई कैंसर से अपनी जंग की पूरी कहानी

अभिनेत्री मनीषा कोइराला इस दौरान भावुक भी हुई जब उन्होंने अपनी मां का जिक्र किया. उन्होने बताया कि इस मुश्किल वक्त में उनकी मां और उनके भाई ने उनका बहुत साथ दिया

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल: मनीषा कोइराला ने बताई कैंसर से अपनी जंग की पूरी कहानी
मनीषा को 2012 में ओवरियन कैंसर का पता चला था

जयपुर: कैंसर बहुत खतरनाक बीमारी है लेकिन इससे लड़ा जाए तो जिंदगी जीत सकती है. अभिनेत्री मनीषा कोइराला ने जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में कैंसर से जीत की कहानी को कुछ इसी तरीके से बयां किया. मनीषा कोइराला ने अपनी किताब में लिखी हर एक चीज को बड़े ही जज्बे के साथ बताया कि उन्होंने कैंसर से कैसे जंग लड़ी. मनीषा कोइराला नए फैशन में उन डॉक्टर्स का भी जिक्र किया जिन्होंने उनके कैंसर को खत्म करने का काम किया. इसके साथ-साथ उन्होंने 6 महीने के सफर को  को भी बताया कि किस तरीके से 6 महीने अमेरिका में इलाज करवाने गई थी. अमेरिका में होने के बावजूद भी उन्हें वहां कई इंडियंस मिले जिन्होंने कैंसर को हराने में उनकी काफी मदद की.

कैंसर की जंग में ऐसे जीती मनीषा
अभिनेत्री मनीषा कोइराला इस दौरान भावुक भी हुई जब उन्होंने अपनी मां का जिक्र किया. मनीषा कोइराला का कहना था कि इस मुश्किल वक्त में उनकी मां और उनके भाई ने बहुत साथ दिया. साथ ही उन्होंने डॉक्टर नरूला का जिक्र भी किया कि किस तरह वह मनीषा से मिले और डॉक्टर नरूला ने उनके साथ पूरा दिन बिताया. मनीषा ने बताया कि मुझे जाने बिना उनकी सेवा की और जब मैंने उनसे पूछा कि मेरे साथ पूरा दिन आपने क्यों बिताया है तो उन्होंने कहा कि मैं इंडियन हूं और आप भी इसलिए कहीं उम्मीद ना हो जाए इसलिए मैं आपके साथ हूं. 

इसके साथ-साथ मनीषा कोइराला का यह भी कहना था कि कोई भी परेशानी आती है तो डरना स्वाभाविक होता है, लेकिन उस डर से लड़ना बड़ी बात होती है. मेरी लाइफ में भी शायद ही दिक्कत है कि मैं इन परेशानियों से लड़ सकूं और इसके बाद में मनीषा कोइराला ने संजू फ़िल्म में काम किया. इसके अलावा साउथ फिल्म की हिंदी रीमेक प्रस्थानम जल्द ही रिलीज होगी. इसमें एक बार फिर से संजय दत्त के साथ काम करेगी इस दौरान मनीषा कोइराला फिल्म से जुड़े कई पहलुओं को भी बताया.

मनीषा को 2012 में ओवरियन कैंसर का पता चला था, इसके बाद मनीषा कोइराला इलाज के लिए 6 महीने के तक अमेरिका में रहीं. लगातार संघर्ष और मजबूत इच्छा शक्ति से मनीषा ने 2015 में कैंसर से जिंदगी की जंग जीत ली. मनीषा ने बताया कि कैंसर के इलाज के बाद वो एलियन जैसी दिखने लगी थीं. उनके बाल झड़ चुके थे. फिर भी उनके मन में विशवास था कि वो ये संघर्ष जीतेंगी. उन्होंने बताया कि कीमोथेरेपी से घबराने की जरूरत नहीं है. कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझने के बाद भी मनीषा फिर से फिल्मी दुनिया में सक्रिय हो गई हैं.