close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: थाने में दुष्कर्म पीड़ित महिला के आत्मदाह मामले पर विपक्ष ने सदन में सरकार को घेरा

अजमेर उत्तर से विधायक वासुदेव देवनानी ने भी मामले को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा किया. देवनानी ने कहा कि थाने में आत्मदाह करना सरकार के लिए शर्म से डूब मरने जैसा है

जयपुर: थाने में दुष्कर्म पीड़ित महिला के आत्मदाह मामले पर विपक्ष ने सदन में सरकार को घेरा
फाइल फोटो

जयपुर: वैशाली नगर थाने में दुष्कर्म पीड़ित महिला द्वारा आत्मदाह करने के मामले को लेकर सोमवार को विपक्ष ने भी सरकार पर करारा हमला बोला है. विपक्ष ने कहा प्रदेश में कानून का इकबाल खत्म हो चुका है इसको लेकर विपक्ष ने मुख्यमंत्री की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं. कालीचरण सराफ ने कहा कि मुख्यमंत्री को गृह मंत्रालय का जिम्मा किसी और मंत्री को सौंप देना चाहिए क्योंकि उन्हें अब पार्टी के अंदरूनी मामलों के आगे ही फुर्सत नहीं है. प्रदेश में महिला दुष्कर्म के केस बढ़ते जा रहे हैं. पुलिस तंत्र इनको पकड़ने में नाकाम साबित हो रहा है. इसके साथ ही कालीचरण सराफ ने एफआईआर दर्ज करने में देरी करने वाले अधिकारी और जांच में लीपापोती करने वाले पुलिस अधिकारियों को भी तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की है.

वहीं सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने कहा है कि प्रदेश की हालत अंधेर नगरी चौपट राजा जैसी हो गई है. प्रदेश में पोपा बाई का राज कायम हो गया है. प्रदेश में लगातार दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ती जा रही है. वहीं मुख्यमंत्री अपने मुखिया को खुश करने में दिल्ली आने जाने में व्यस्त हैं. अजमेर उत्तर से विधायक वासुदेव देवनानी ने भी मामले को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा किया. देवनानी ने कहा कि थाने में आत्मदाह करना सरकार के लिए शर्म से डूब मरने जैसा है लेकिन अभी भी सरकार आंखें मूंदे बैठी है. देवनानी ने भी दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की मांग की है.

गौरतलब है कि सोमवार को वैशाली नगर थाने में दुष्कर्म पीड़िता ने आत्मदाह का प्रयास किया था. जिसके बाद पीड़ित महिला की एसएमएस अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. दुष्कर्म पीड़िता का आरोप था कि पुलिस की ओर से आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई.