जालोर: मंत्री जी को किसानों की दो टूक- 'जब तक पानी नहीं मिलता धरना जारी रहेगा'

उपखण्ड क्षेत्र के मेघावा गांव में नर्मदा मुख्य नहर के किनारे अपनी जमीन नर्मदा नहर के कंमाण्ड में शामिल करवाने की मांग को लेकर किसानों का धरना गत 14 दिन से जारी है.

जालोर: मंत्री जी को किसानों की दो टूक- 'जब तक पानी नहीं मिलता धरना जारी रहेगा'
वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई

बबलू मीणा/जालोर: उपखण्ड क्षेत्र के मेघावा गांव में नर्मदा मुख्य नहर के किनारे अपनी जमीन नर्मदा नहर के कंमाण्ड में शामिल करवाने की मांग को लेकर किसानों का धरना गत 14 दिन से जारी है. आखिरकार सोमवार को वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई धरनास्थल पर पहुंचे. साथ ही उन्होंने किसानों से समस्याओं के समाधान का भरोसा दिलवाया लेकिन किसानों ने कहा कि जब तक हमारे खेत नर्मदा नहर के कमाण्ड क्षेत्र में नही जुड़ जाते है तब तक हमारा धरना जारी रहेगा.

गौरतलब है कि, नर्मदा नहर के किनारे बसे वीरावा, मणोहर, मेघावा, कुंडकी व अगड़ावा गांव की भूमि अंकमाण्ड क्षेत्र में है. जिससे किसानों को सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल रहा है. इसलिए किसान गत 14 दिन से धरने पर है और सिंचाई के लिए पानी की मांग कर रहे है. आखिरकार 14 दिन बाद किसानों की समस्याओं को सुनने के लिए मंत्री सुखराम बिश्नोई धरनास्थल पर पहुंचे.

हालांकि, मंत्री सुखराम बिश्नोईकहा कि यह मेरे खुद की पंचायत है और मैं इस क्षेत्र को कंमाण्ड में जुड़वाने के लिए हरसंभव प्रयास करूंगा. आपकी समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री व सिंचाई मंत्री से बात करूंगा. लेकिन किसानों ने कहा जब तक हमारी मांग पूरी नही होती है तब तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा.

साथ ही किसानों ने यह भी कहा कि हमारे खेत के बीचों-बीच से नहर निकली है. औने-पौने दाम पर हमारी जमीन अधिग्रहण की लेकिन हमें ही सिंचाई के लिए पानी से वंचित रखा गया है. यह अन्याय है. इसलिए जब तक हमें हमारे हक का पानी नहीं मिलता है तब तक हमारा धरना जारी रहेगा.