close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जोधपुर: पहली बारिश ने खोली नगर परिषद की पोल, सरकारी ऑफिस के बाहर भी भरा पानी

यहां तक कि नगर परिषद क्षेत्र में भराव के चलते परिषद के अधिकारी परेशान हो रहे हैं. बड़ी बात यह है कि जिला कलेक्टर के ऑफिस तक के बहार हर साल बारिश का पानी भर जाता है.

जोधपुर: पहली बारिश ने खोली नगर परिषद की पोल, सरकारी ऑफिस के बाहर भी भरा पानी
जनता का कहना है कि नगर परिषद पानी के स्थाई निकासी के लिए कोई काम नहीं करता है.

जालोर: प्रदेश में पहली बारिश ने ही नगर परिषद के अधिकारियों की पोल खोल कर रख दी है. बरसात के पानी को जुगाड़ से ही पानी का निकास किया जाता है. जालोर में मानसून की पहली बारिश हुई और क्षेत्र में चारो ओर पानी ही पानी नजर आने लगा. यहां तक कि पहली बारिश ने शहर में कई जगह पानी के भराव जैसी स्थिति से लोग बड़े परेशान हो रहे हैं.

यहां तक कि नगर परिषद क्षेत्र में भराव के चलते परिषद के अधिकारी परेशान हो रहे हैं. बड़ी बात यह है कि जिला कलेक्टर के ऑफिस तक के बहार हर साल बारिश का पानी भर जाता है. जिसके कारण चलने वाले राहगीरों को बड़ी परेशानी होती है. यहां तक कि डिवाइडर के सहारे रोड क्रॉस किया जाता है. मजे की बात तो यह है कि नगर परिषद के अधिकारी खुद मानते हैं कि जुगाड़ के सहारे हम पानी का निकासी करने की कोशिश करते हैं जबकि करोड़ों का बजट नगर परिषद में आता है. 

वहीं जनता का कहना है कि नगर परिषद पानी के स्थाई निकासी के लिए कोई काम नहीं करता है. जालोर में बरसात आते ही नगर परिषद के अधिकारी व कर्मचारी कुछ हरकत में आते हैं. लोगों की मानें तो नगर क्षेत्र में नहीं पानी की निकासी के लिए कोई स्थाई व्यवस्था है और नहीं नालियों को साफ करने के लिए कर्मचारी आते हैं. जिसके चलते यह हालात बन जाते हैं जलभराव जैसी स्थिति पैदा होने से लोग परेशान होते हैं. यहां तक की बरसात में पानी के भराव के चलते बुजुर्ग लोगों को बड़ी परेशानी होती है.

साथ ही प्रदेश के दूसरे इलाकों में भी पहली बारिश के बाद हालात कुछ ऐसे ही नजर आए. डूंगरपुर जिले में बुधवार शाम से शुरू हुआ बारिश का दौर गुरुवार को भी जारी रहा. पूरी रात बरसी बारिश ने जिले भर के जर्रे-जर्रे को तरबतर कर दिया. पुराने शहर में सड़के दरिया बन गई ओर करीब 2 फीट तक पानी सड़क पर बह रहा था. इधर बारिश के चलते तापमान में गिरावट दर्ज की गई है जिससे लोगो को गर्मी व उमस से राहत मिली है. 

वहीं डूंगरपुर जिले में पिछले 24 घंटे में 695 एमएम बारिश दर्ज की गई है. जिसमे सर्वाधिक बारिश आसपुर में 140 एमएम दर्ज की गई है. इसके अलावा डूंगरपुर में 71, देवल में 69, कनबा में 16, सागवाड़ा में 65 तथा गलियाकोट में 46 एमएम बारीश दर्ज की गई है. इसी प्रकार धम्बोला में 46, वैंजा में 5, चिखली में 20, गणेशपुर में 47, साबला में 95 तथा निठाउवा में 75 एमएम बारीश दर्ज की गई है. जिले में हुई अच्छी बारिश से जलाशयों में भी पानी की आवक हुई है.