close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रतापगढ़: बजरी माफिया के खिलाफ 5 विभागों की संयुक्त कार्रवाई, बजरी समेत 4 डंपर किए जब्त

शहर के मध्य से गुजर रहे नेशनल हाईवे 113 पर अंबेडकर सर्कल के पास रेत ठिकानों पर चार विभागों की टीम पहुंची. अचानक भारी पुलिस जाप्ते के साथ पहुंची गाड़ियों को देख कर वहां भीड़ लग गई. 

प्रतापगढ़: बजरी माफिया के खिलाफ 5 विभागों की संयुक्त कार्रवाई, बजरी समेत 4 डंपर किए जब्त
प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतापगढ़: कलेक्टर श्याम सिंह राजपुरोहित के निर्देश पर बजरी माफिया के खिलाफ पांच विभागों की संयुक्त कार्रवाई से बजरी माफिया में हड़कंप मच गया. खनन विभाग, वन विभाग, परिवहन विभाग, पुलिस और प्रशासन की संयुक्त कार्रवाई से अवैध बजरी खनन करने वालों में खलबली मच गई है. 

शहर के मध्य से गुजर रहे नेशनल हाईवे 113 पर अंबेडकर सर्कल के पास रेत ठिकानों पर चार विभागों की टीम पहुंची. अचानक भारी पुलिस जाप्ते के साथ पहुंची गाड़ियों को देख कर वहां भीड़ लग गई. जिस कारण रेत से भरी गाड़ियां छोड़ कर ड्राइवर फरार हो गए. दो घंटे तक चली कार्रवाई में पुलिस ने ही बजरी से भरे चार डंपर और दो ट्रेक्टर ट्रॉली को कोतवाली तक पहुंचाया. 

खनिज विभाग ने 700 टन बजरी जप्त की और 8.50 लाख रुपए जुर्माना वसूला. इससे पूर्व जिले के छोटी सादड़ी में भी खनन विभाग ने एक डंपर को थाने पहुंचाया था. प्रतापगढ़ जिले में वन भूमि और नदियों से अवैध बजरी का कारोबार काफी समय से चल रहा है. केसरियावाद नदी, पारसोला वन क्षेत्र के अंदर अंतरोल, रणापाल काबरा के जंगल से गुजरने वाली नदी, शिवना नदी, मुंगाणा क्षेत्र में अणत पंचायत में माही सागर नदी आदि से रातदिन बजरी का खनन हो रहा है.