close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रतापगढ़: गौशाला की दयनीय हालत देख एक्शन में आया प्रशासन, संचालक को दिया नोटिस

एसडीएम के आदेश पर जब तहसीलदार और पशु चिकित्सक की टीम गौशाला पहुंची तो वहां कई गाय मृत पाई गई और कई गाय बीमार थी.

प्रतापगढ़: गौशाला की दयनीय हालत देख एक्शन में आया प्रशासन, संचालक को दिया नोटिस
बीमार गायों को उपचार किया गया.

प्रतापगढ़: उदयपुर संभाग के प्रतापगढ़ जिले के छोटी सादड़ी में गौशाला की दयनीय हालत पर प्रमुखता से खबर दिखाए जाने के बाद प्रशासन हरकत में आया. कई संगठनों ने भी गौशाला की खौफनाक हालत पर दुख जताया है. छोटी सादड़ी की एसडीएम बिंदुबाला राजावत ने गौशाला के संचालक को नोटिस देकर कहा है कि क्यों न उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए. 

एसडीएम के आदेश पर जब तहसीलदार और पशु चिकित्सक की टीम गौशाला पहुंची तो वहां कई गाय मृत पाई गई और कई गाय बीमार थी. मृत गायों को तुरंत वहां से हटवाया गया. बीमार गायों को उपचार किया गया.

प्रतापगढ़ जिले छोटी सादड़ी में जमलावदा गांव स्थित ग्वाल गोपाल गौशाला में अव्यवस्था, घोर लापरवाही और उपचार के अभाव में हर रोज दो-तीन गाय तम तोड़ रही थी. अभी भी गौशाला में कई गाय जीवन और मौत से संघर्ष कर रही है. चारों ओर दुर्गन्ध और बीमारी फैली हुई है. जिसकी शिकार दूसरी गाएं भी हो रही है. यहां गायों के लिए पर्याप्त हरा चारा नहीं है. इलाज के लिए पर्याप्त व्यवस्था का भी अभाव है. इसके साथ ही कर्मचारी भी कम है.

पशु क्रूरता निवारण समिति के जिला सचिव रमेश शर्मा ने भी जमलावदा गांव स्थित ग्वाल गोपाल गौशाला की दुर्दशा पर दुख जताया है और कार्रवाई की मांग की है. रमेश शर्मा ने कहा कि इस गौशाला की प्रबंध कार्यकारिणी सेवा भावना से काम नहीं कर रही है. इस गौशाला की पहले भी शिकायतें मिली थी, तब प्रबंध कार्यकारिणी को व्यवस्था सुधारने के लिए कहा गया था. छोटी सादडी इलाके में प्रतापगढ़-जयपुर एनएच 113 गुजरता है. अक्सर यहां गौ तस्करी के वाहन पकडे़ जाते रहे हैं. इन गायों को इसी गौशाला में छोड़ा जाता है. लेकिन यहां भी गौवंश महफूज नहीं है.