राजस्थान सरकार आर्थिक रूप से अक्षम महिलाओं को देगी रोजगार के अवसर

इस योजना के तहत राज्य सरकार ने ऐसी महिलाओं को प्राथमिकता देगी जो आर्थिक रूप से बेहद कमजोर है या फिर आजीविका के लिए उन्हें काफी परेशानी होती है. 

राजस्थान सरकार आर्थिक रूप से अक्षम महिलाओं को देगी रोजगार के अवसर
राज्य सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 10000 महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा.

जयपुर: राजस्थान सरकार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए बड़ी योजना लेकर आई है. कौशल संवर्धन और प्रशिक्षण योजना के जरिए राज्य सरकार महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने की कोशिश करेगी.महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए राज्य सरकार निशुल्क कौशल उन्नयन प्रशिक्षण देगी. जिसमें कई तरह की ट्रेनिंग महिलाओं को दी जाएगी. जिसके बाद महिलाएं स्वयं का काम कर सकेगी और उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी.

इस योजना के तहत राज्य सरकार ने ऐसी महिलाओं को प्राथमिकता दी है जो आर्थिक रूप से बेहद कमजोर है या फिर आजीविका के लिए उन्हें काफी परेशानी होती है. इस योजना के अंतर्गत विधवा, अनुसूचित जाति, जनजाति,आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग और स्वयं सहायता समूह की सदस्यों को ट्रेनिंग दी जाएगी. राज्य सरकार इच्छुक महिलाओं और बालिकाओं को लघु- दीर्घ अवधि के आवासीय और गैर आवासीय प्रशिक्षण देगी. 

गहलोत सरकार आरएसएलडीसी एनआईएफटी, एफडीडीआई जैसे प्रतिष्ठित प्रशिक्षण संस्थाओं और स्वयं सहायता समूह सदस्य की महिलाओं और शिल्प दक्ष व्यक्तियों के माध्यम से ही प्रशिक्षण दिया जाएगा, ताकि उन्हें कंपनियों में रोजगार के अवसर मिल सके और वे महिलाएं खुद आत्मनिर्भर बन सकें. राज्य सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 10000 महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा. इंदिरा महिला शक्ति योजना के अंतर्गत आने वाली इस योजना से महिलाएं केवल आर्थिक रूप से मजबूत बनेगी बल्कि समाज में उनका सम्मान भी बढ़ सकेगा.

प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश का कहना है कि राज्य सरकार के इस प्रयास से महिलाएं सशक्त और मजबूत होंगी. सरकार के इस पहल से महिलाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे. जिससे राजस्थान और अधिक विकसित बनेगा इस योजना के अंतर्गत सभी महिलाओं को निशुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा. महिलाओं को उनके कौशल के अनुसार ही प्रशिक्षण दिया जाएगा. 

खबर के मुताबिक, यह प्रशिक्षण उनके घर और एक निश्चित जगह पर भी दिया जाएगा. इंदिरा गांधी के नाम से संचालित हो रहे इस योजना का मकसद यही है कि यह महिलाएं भी इंदिरा गांधी जैसी आयरन लेडी बनी और समाज के सामने एक नया चेहरा बनकर सामने आए. जाहिर है राज्य सरकार इस पहल से महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़ेगा लेकिन अब देखना यह होगा कि यह योजना जमीनी स्तर पर कितना तेजी से काम करती है.