close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: जनवरी में राष्ट्रीय प्रतियोगिता, लेकिन स्टेडियम में प्रैक्टिस की इजाजत नहीं

जयपुर के एसएमएस स्टेडियम को करीब 20 सालों के बाद वेलोड्रम साइक्लिंग की मेजबानी मिली है

राजस्थान: जनवरी में राष्ट्रीय प्रतियोगिता, लेकिन स्टेडियम में प्रैक्टिस की इजाजत नहीं
इस प्रतियोगिता में करीब 300 से 400 खिलाड़ियों के हिस्सा लेने की संभावना है

ललित कुमार/जयपुर: राजस्थान के एसएमएस स्टेडियम में करीब 20 सालों के बाद 30 जनवरी से राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन होने जा रहा है. इस प्रतियोगिता में करीब 300 से 400 खिलाड़ियों के हिस्सा लेने की संभावना है. देशभर से खिलाड़ियों का स्टेडियम में पहुंचना भी शुरू हो चुका है, लेकिन खिलाड़ियों को अभी से भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है.

चाहे स्टेडियम में रुकने की व्यवस्था हो या फिर सुविधाओं की, हर समस्या से खिलाड़ियों को सामना करना पड़ रहा है. 30 जनवरी से शुरू हो रही इस प्रतियोगिता में अब सबसे बड़ी समस्या बनकर उभरी है, 26 जनवरी के चलते तीन दिनों तक स्टेडियम की सीलबंदी. जिसके चलते अब ये खिलाड़ी प्रतियोगिता से ठीक पहले प्रैक्टिस नहीं कर पा रहे हैं. हालांकि इसकी शिकायत खेल मंत्री अशोक चांदना से की गई है.

जयपुर के एसएमएस स्टेडियम को करीब 20 सालों के बाद वेलोड्रम साइक्लिंग की मेजबानी मिली है. इसके लिए देशभर से करीब 400 खिलाड़ियों के साथ 200 लोगों के स्टाफ जयपुर में जुटने शुरू हो गए हैं. लेकिन जयपुर पहुंचते ही इन खिलाड़ियों को समस्या से दो-दो हाथ करना पड़ रहा है. स्टेडियम के वेलोड्रम क्वार्टर में ना तो रुकने की जगह है और ना ही अन्य सुविधाएं जिसके चलते खेल मंत्री अशोक चांदना से शिकायत की गई. शिकायत पर तुरंत एक्शन लेते हुए खेल मंत्री सुबह ही एसएमएस स्टेडियम पहुंचे और अधिकारियों को समस्या समाधान के निर्देश दिए.

हालांकि 30 जनवरी से शुरू हो रही राष्ट्रीय प्रतियोगिता के बावजूद स्टेडियम को खिलाड़ियों के लिए बंद करने को लेकर प्रसाशन का कहना है कि 26 जनवरी को राज्य स्तरीय कार्यक्रम एसएमएस स्टेडियम में आयोजित होना है. इसी के मद्देनजर सुरक्षा कारणों के चलते 23 जनवरी से 26 जनवरी तक स्टेडियम को सीलबंद कर दिया जाएगा. जिसके कारण पुलिस अधिकारियों ने खिलाड़ियों को अपनी व्यवस्था बाहर करने के आदेश दिए है.

वहीं इस समस्या पर खेल मंत्री अशोक चांदना ने कहा की इस संबंध में प्रशासन से वार्ता की जाएगी. हालांकि गणतंत्र दिवस के चलते सुरक्षा के मद्देनजर हर साल स्टेडियम को सील किया जाता है, लेकिन खिलाड़ियों की प्रैक्टिस को नुकसान ना हो इसको लेकर बात की जाएगी ताकि खिलाड़ियों को प्रैक्टिस करने की कोई वैकल्पिक व्यवस्था का जाए. इसके साथ ही अशोक चांदना ने अधिकारियों को एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स की तैयारियों को लेकर अभी से दिशा निर्देश दिए. जिससे राजस्थान से ज्यादा से ज्यादा खिलाड़ी इन खेलों में पदक हासिल कर सकें.