राजस्थान: वैन चालाक पर मासूम के साथ छेड़छाड़ का आरोप, परिजनों ने जमकर की धुलाई

खबर के मुताबिक बच्ची ने जब ने अपने साथ हुई घटना को अपने परिजनों को बताया तो परिजन चालक को सबक सिखाने की प्लानिंग बनाई और स्कूल पहुंच गए. 

राजस्थान: वैन चालाक पर मासूम के साथ छेड़छाड़ का आरोप, परिजनों ने जमकर की धुलाई
घटना के बारे में सुनकर अभिभावकों में गुस्सा फूट गया.

जयपुर: निजी स्कूलों में मासूमों के साथ होने वाली दुर्घटनाएं बढ़ती जा रही है. स्कूलों में अप्रशिक्षित वैन ड्राइवर व नौसिखिये स्टाफ से ना केवल मासूम बेटियां असुरक्षित है बल्कि उनका भविष्य भी खतरे में है. ऐसा ही वाक्या शनिवार को श्रीगंगानगर के एक निजी स्कुल(गुड़ शेफर्ड) में घटित हुआ जब घर से स्कूल में आने वाली चार वर्षीय मासूम बच्ची के साथ वैन के ड्राइवर ने ही अश्लील हरकत कर डाली.

घटना के बारे में सुनकर अभिभावकों में गुस्सा फूट गया. चालक की करतूत का पता चलते ही लोगों ने उसकी जमकर धुनाई कर दी. बाद में इस चालक को सदर थाने में लाया गया. चूंकि मामला महिला थाना से संबंधित था, इसलिए सदर थाना पुलिस उसे महिला थाना लेकर चली गई. अधेड़ उम्र के इस वैन चालक को स्कूल बस में महज दस दिन पूर्व ही रखा था.

खबर के मुताबिक बच्ची ने जब ने अपने साथ हुई घटना को अपने परिजनों को बताया तो परिजन चालक को सबक सिखाने की प्लानिंग बनाई और स्कूल पहुंच गए. पहले तो उन्होंने ड्राइवर बहला-फुसलाकर स्कूल से बाहर बुलवाया और फिर उसकी जमकर धुनाई कर दी. आक्रोशित परिजनों ने उसकी एक ना सुनी और मौके पर पुलिस को बुला लिया. इसी दौरान स्कूल प्रबंधन भी मौके पर पहुंच गया. 

पुलिस आरोपी को पकड़कर सदर थाना ले आयी. लोगों को जैसे ही इस बात का पता चला तो स्कूल और थाना के बाहर काफी भीड़ बढ़ गई. मामला नाबालिग बच्ची से जुड़ा होने के कारण सदर थाना पुलिस उसे पकड़कर महिला थाना ले गई. हालांकि घटना में नया मोड़ तब आया जब परिजनों ने पहले तो महिला थाना पहुंचकर मुकदमा दर्ज करवाने से इंकार दिया और फिर पुलिस अधीक्षक से मुलाकात करके मुकदमा दर्ज नहीं करने की गुहार लगाई.

मगर एसपी द्वारा मामला संगीन बताने और मुकदमा दर्ज करने की बात पर परिजन फिर महिला थाना पहुंचे जहां उन्होंने मुकदमा दर्ज करने के लिए परिवाद दिया. जिस पर महिला थाना प्रभारी पुलिस कानूनी कारवाई कर रही है. महिला थाना प्रभारी विजेंद्र शिला ने बताया की बच्ची के परिजनों द्वारा परिवाद देने की कारवाई की जा रही है, परिवाद पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा.