न्यू ईयर सेलिब्रेशन के लिए जगह तलाश रहे हैं तो उदयपुर आ जाइये, यहां है आपके लिए कुछ खास

अगर आप प्राकृतिक सुन्दरता के बीच लोक कला और संस्कृति से रूबरू होते हुए नए साल का स्वागत करने की ख्वाहिश रखते हैं तो आपको उदयपुर आना चाहिए.  

न्यू ईयर सेलिब्रेशन के लिए जगह तलाश रहे हैं तो उदयपुर आ जाइये, यहां है आपके लिए कुछ खास
उदयपुर शहर

अविनाश जगनात/उदयपुर: अगर आप प्राकृतिक सुन्दरता के बीच लोक कला और संस्कृति से रूबरू होते हुए नए साल का स्वागत करने की ख्वाहिश रखते हैं तो आपको उदयपुर(Udaipur) आना चाहिए. उदयपुर(Udaipur) में आप सुहावने मौसम के बीच धूमधाम के साथ अपनी सर्दी छूट्टियां बिताते हुए 2020 का स्वागत कर सकते हैं.

हरियाली की चारद ओढे अरवाली पहाड़ियों के बीच और खूबसूरत नीले पानी की झीलों के पास बसा उदयपुर(Udaipur) शहर, देश—दूनिया में राजस्थान के कश्मिर के नाम से जाता है. हर साल हजारों की तादाद में देशी-विदेशी सैलानी शहर की खूबसुरती को निहारने यहां आते हैं. मौका जब सर्दी की छुट्टियों का और नए साल के स्वागत के जश्न का हो, तो यहां आने वाले पर्यटकों की तादाद बढ़ जाती है.

पिछले दो-तीन साल से शहर में हुई कम बारिश से यहां की झीलें खाली हो चुकी थीं, जिसका असर यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या पर भी पड़ा. इस बार मानसून सीजन में लेकसिटी पर मेहरबान हुए इन्द्र देव जम कर बरसे, जिससे उदयपुर(Udaipur) शहर समेत आस-पास की तमाम झीले लबालब हो कर छलक गई.

लबलाब झीलों ने शहर की खूबसूरती में चार चांद लगा दिये हैं. ऐसे में इस बार पर्यटन सिजन में यहां पर्यटकों की बम्पर आवक होने की संभावना है. यही नहीं साल के आखिर में शहर में आयोजित होने वाले कई उत्सव और मेले भी सैलानियों को उदयपुर(Udaipur) आने के लिए आकर्षित करते है.

सैलानियों के लिए खास उत्सव और मेले
 
21 दिसम्बर को लोक कला और संस्कृति के महाकुंभ कहे जाने वाले शिल्पग्राम महोत्सव को आगाज होगा. जो दिस दिन तक चलेगा.
25 दिसम्बर से शहर की विश्व प्रसिद्ध फतह सागर पाल पर दस दिवसीय फ्लावर शो का आगाज होगा, जिसमें देश विदेश के फूलों को प्रदर्शित किया जाएगा.
जनवरी महीने में बर्ड फेस्टिवल का आयोजन होगा जिसमें देश विदेश से आई बर्ड और उनके बारे में जानकारी दी जाएंगी.
टाउन हॉल में आयोजित हो रहा खादी मेला भी सैलानियों को आकर्षित करता है.
इसके अलावा कई इवेंट कम्पनियों रंगारंग कार्यक्रमों आयोजित करती है.

बहरहाल इन तमाम आयोजन से जहां आप भारत की विविधता में एकता वाली कला और संस्कृति से भी रूबरू हो सकेंगे, साथ ही प्रकृति नजदीक से देखने का भी लुफ्त भी उठा सकेगें. पर्यटकों की बम्पर आवक को देखते हुए स्थानीय पुलिस प्रशासन ने भी अपनी तैयारियां पुख्ता कर ली हैं, जिससे पर्यटकों को किसी तरह की परेशानी का सामना ना करना पड़े.