झालावाड़ में भी शुरु हुआ सर्दी का सितम, पारा पहुंचा 5 डिग्री से नीचे

झालावाड़ शहर की की बात की जाए तो घने कोहरे के चलते विजिबिलिटी 100 मीटर से भी कम रह गई. ऐसे में वाहन चालकों को हेड लाइट जलाकर रेंगते हुए सड़कों से गुजरना पड़ा.

झालावाड़ में भी शुरु हुआ सर्दी का सितम, पारा पहुंचा 5 डिग्री से नीचे
किसानों के लिए तो यह सर्दी जानलेवा साबित हो रही है.

महेश परिहार/झालावाड़: राजस्थान के झालावाड़ जिले में इन दिनों सर्दी का सितम कहर ढ़ा रहा है. बीती रात पारा 5 डिग्री से नीचे लुढ़क गया, जिसके चलते आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है. हालत यह है कि सुबह 10 बजे तक भी सूरज के दर्शन नहीं हुए. चारों ओर झालावाड़ शहर घने कोहरे की चादर में लिपटा नजर आया. सबसे खास परेशानी देखनी पड़ी नन्हें छात्रों को जिन्हें बेरहम सर्दी के प्रकोप के बीच स्कूल की राह पकड़नी पड़ी.

झालावाड़ शहर की की बात की जाए तो घने कोहरे के चलते विजिबिलिटी 100 मीटर से भी कम रह गई. ऐसे में वाहन चालकों को हेड लाइट जलाकर रेंगते हुए सड़कों से गुजरना पड़ा. वहीं, मजदूर, राहगीर और घरों से मजबूरी में बाहर निकलने वाले लोगों को अलाव का सहारा लेना पड़ा. चाय की दुकानों पर भी चाय की चुस्की लगाकर आमजन सर्दी के सितम को कम करने का प्रयास करते नजर आए.

उधर, किसानों के लिए तो यह सर्दी जानलेवा साबित हो रही है. सिंचाई के लिए खेतों पर पहुंचने वाले किसानों को भारी सर्दी का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में कई किसान अस्पतालों की शरण ले रहे हैं.

लगभग यही हालात झालावाड़ जिले के सभी प्रमुख कस्बों में आज बने हुए हैं जिसके चलते लोग आवश्यक कामों को छोड़कर भी घरों में ही रजाई में दुबके नजर आए. उधर, मौसम विभाग की मानें तो सर्दी का कहर अभी अगले चार दिनों तक और जारी रहेगा. वहीं, आगामी दिनों में पारा और नीचे लुढ़कने की संभावना है. 

बता दें कि बीती रात प्रदेश में रात के तापमान में करीब 1 से 2 डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई. प्रदेश के करीब सभी जिलों में रात का तापमान 10 डिग्री के नीचे पहुंच गया. इसके साथ ही राजधानी जयपुर में भी बीती रात तापमान 9.6 डिग्री दर्ज किया गया. रात में सर्द हवाओं और कोहरे के चलते तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है. इस दौरान बीते दिन के तापमान में भी करीब 2 से 3 डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई. प्रदेश के अधिकतर जिलों में कोहरे के चलते जनजीवन भी प्रभावित रहा.