close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में कड़ाके की सर्दी, चूरू में माइनस 1.1 डिग्री सेल्सियस पहुंचा तापमान

मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार राज्य के चूरू जिले में न्यूनतम तापमान लगभग एक दशक बाद जमाव बिंदू के नीचे माइनस 1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

राजस्थान में कड़ाके की सर्दी, चूरू में माइनस 1.1 डिग्री सेल्सियस पहुंचा तापमान
फाइल फोटो

जयपुर: देश के पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी के बाद उत्तरी ठंडी हवाओं से राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में शीतलहर का प्रकोप लगातार तीसरे दिन बना हुआ है. राज्यभर में पड़ रही कड़ाके की सर्दी के चलते स्वास्थ्य विभाग की ओर से मौसमी बीमारियों के प्रति जागरूक रहने की हिदायत दी गई है. वहीं जिला प्रशासन ने स्कूल के समय में बदलाव किया है.

मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार राज्य के चूरू जिले में न्यूनतम तापमान लगभग एक दशक बाद जमाव बिंदू के नीचे माइनस 1.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. उन्होंने बताया कि राज्य के एक मात्र पर्वतीय पर्यटक स्थल माउंट आबू में न्यूनतम तापमान जमाव बिंदू पर जीरो डिग्री सेल्सियस, भीलवाड़ा में 0.8, सीकर- चित्तौड़गढ़ में दो डिग्री, वनस्थली- डबोक में 2.8 डिग्री, ऐरनपुरा रोड में 3.2 डिग्री, कोटा में 5.0 डिग्री सेल्सियस, जयपुर- सवाईमाधोपुर में 5.2 डिग्री सेल्सियस, श्रीगंगानगर में 5.4 डिग्री सेल्सियस, अजमेर में 5.5, अलवर में 6.0, जोधपुर 6.1, बीकानेर 7.1, फलौदी में 8.0, जैसलमेर 8.1, बाड़मेर में 9.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

उन्होंने बताया कि राज्य के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान 15.4 डिग्री सेल्सियस से लेकर 24.3 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया है. उन्होंने बताया कि चूरू, टोंक, जयपुर, झुंझुनूं, भीलवाड़ा, सीकर, चित्तौड़गढ़, डबोक, पाली, अजमेर,कोटा, और सवाईमाधोपुर में शीतलहर चलने के कारण जनजीवन प्रभावित हुआ है. विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान अलवर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, दौसा, झुंझुनूं, और कोटा में शीतलहर चलने और झुंझुनूं में पाला पड़ने की संभावना जताई है.

(इनपुट भाषा)