close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सुषमा स्वराज की मदद से राजस्थान निवासी लौटा घर, कुवैत में करता था मजदूरी

मदनसिंह नौकरी को छोड़ भाग जाने के बाद तीन महीने तक कुवैत में स्थित भारतीय दूतावास में रहा. वहीं उनके पास पासपोर्ट सहित आवश्यक दस्तावेज भी नहीं थे.

सुषमा स्वराज की मदद से राजस्थान निवासी लौटा घर, कुवैत में करता था मजदूरी
फाइल फोटो

जालौर: मजदूरी को लेकर कुवैत पहुंचा चितलवाना उपखण्ड के आकोली निवासी मदनसिंह पिछले दो सालों से कुवैत में फंसा हुआ था. बड़ी मुश्किल के बाद दो दिन पहले कुवैत से लौटकर घर पहुंचा है. आकोली निवासी मदनसिंह राजपूत दो साल पहले मजदूरी के लिए दोस्त के साथ कुवैत गया था. कुवैत जाने के बाद वहां मजदूरी कर रहा था लेकिन पिछले कुछ महीने से उसको भयानक दौर से गुजरना पड़ा. 

मजदूरी कर रहे मदनसिंह के मालिक ने उनके दस्तावेज तक छीन लिए. वहीं उन्होंने वापिस घर आने की बात कही, तब उनको वापिस भारत नहीं आने दिया एवं डरा धमकाकर कार्य करवाते रहे. जिसके बाद मदनसिंह वहां से भागकर भारतीय दूतावास में चला गया. जहां उनके पास पासपोर्ट और कागजात नहीं होने के कारण तीन माह दूतावास में रहने के बाद गुरुवार को वापिस गांव 
लौट पाया. 

मदनसिंह नौकरी को छोड़ भाग जाने के बाद तीन महीने तक कुवैत में स्थित भारतीय दूतावास में रहा. वहीं उनके पास पासपोर्ट सहित आवश्यक दस्तावेज भी नहीं थे. ऐसे में उनको तीन महीने तक कागजी प्रक्रिया में गुजारना पड़ा. जिसके बाद मदनसिंह ने सांसद देवजी एम पटेल से भी वार्ता की. जिसके बाद सांसद पटेल ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पत्र लिखकर भारत लाने की बात कही. सुषमा स्वराज ने भारतीय दूतावास से संपर्क कर कागजी कार्रवाई पूरी करवा उसे भारत लाया गया.

मदनसिंह के स्वदेश लौटने को लेकर पूरे परिवार और गांव में खुशी का माहौल है. मदन सिंह के भाई तेजसिंह का कहना है कि दो साल से भाई के बिना पूरे परिवार का बुरा हाल था. अब उसके लौटने के बाद परिवार में जश्न मनाया गया है.