महाराष्ट्र से राहत की खबर, 4 अक्टूबर से स्कूल और 7 अक्टूबर से मंदिरों को खोलने की अनुमति
X

महाराष्ट्र से राहत की खबर, 4 अक्टूबर से स्कूल और 7 अक्टूबर से मंदिरों को खोलने की अनुमति

महाराष्ट्र में कोरोना के केसों में गिरावट देखने के बाद स्कूलों और धार्मिक स्थलों को खोलने का ऐलान कर दिया गया है.

 

महाराष्ट्र से राहत की खबर, 4 अक्टूबर से स्कूल और 7 अक्टूबर से मंदिरों को खोलने की अनुमति

मुंबई: कोरोना के मामलों में लगातार गिरावट देखने के बाद अब सामान्य जन-जीवन को पटरी पर लाने की जद्दोजहद जारी है. इसी को देखते हुए अब महाराष्ट्र में स्कूलों को 4 अक्टूबर से और धार्मिक स्थलों को 7 अक्टूबर से खोलने की इजाजत दे दी गई है. राज्य सरकार ने शुक्रवार को यह जानकारी दी और कहा कि सभी को कोविड-19 प्रोटोकॉल्स का पालन करना होगा. 

मंदिरों में पालन करनी होगी सोशल डिस्टेंसिंग

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने यह घोषणा करते हुए लोगों से अपील की कि सुरक्षा में कोताही न बरते और महामारी की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए कोविड-19 प्रोटोकॉल्स का पालन करें. उन्होंने कहा, ‘राज्य में सभी धार्मिक स्थल 7 अक्टूबर से खुलेंगे. महाराष्ट्र सरकार ने तीसरी लहर की तैयारी की है लेकिन एहतियात बरतते हुए राज्य सरकार विभिन्न गतिविधियों में छूट दे रही है.’

ठाकरे ने कहा, ‘धार्मिक स्थल खुलने जा रहे हैं, लोगों को मास्क लगाने और हैंड सेनेटाइजर का इस्तेमाल करना चाहिए. इस तरह के उपायों को सुनिश्चित करने के लिए धर्मस्थलों का प्रबंधन जिम्मेदार होगा.’

स्कूलों में फिर से लौटेगी रौनक

इसके अलावा स्कूलों को खोलने के फैसले पर महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड (Varsha Gaikwad) ने कहा, राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के सभी स्कूलों में 5वीं से 12वीं क्लास तक और शहरी क्षेत्रों में 8वीं से 12वीं क्लास के स्टूडेंट्स की क्लासेस फिर से शुरू होंगी. इससे पहले केवल उन्हीं इलाकों में स्कूल खुल रहे थे, जहां कोविड-19 की स्थिति नियंत्रण में थी. बच्चों के स्कूल भेजने के लिए माता-पिता की सहमति आवश्यक होगी. शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य के स्कूली शिक्षा विभाग की ओर से किए गए एक सर्वेक्षण के मुताबिक 70% से अधिक अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेजने को इच्छुक हैं.

गौरतलब है कि राज्य सरकार ने इस साल जुलाई में ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूलों को प्रत्यक्ष उपस्थिति के साथ कक्षाओं को फिर से शुरू करने की अनुमति दी थी, जहां कोविड-19 की स्थिति नियंत्रण में थी. सरकार के इस फैसले से राज्य के विदर्भ क्षेत्र को काफी लाभ हुआ था. लेकिन इस दौरान मुंबई और पुणे में स्कूल बंद ही रहे थे.

यह भी पढ़ें: दिल्ली में 25 साल के युवक को आया हार्ट अटैक, धमनियों में 99% ब्लॉकेज, डॉक्टरों ने स्टेंट डालकर बचाई जान

महाराष्ट्र में भी जल्द खुलेंगे कॉलेज

इस बीच, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत (Uday Samant) ने पुणे में बताया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कॉलेजों और राज्य विश्वविद्यालयों को फिर से खोलने के बारे में कुलपतियों से रिपोर्ट मांगी है. यदि सब कुछ सामान्य रहा तो दिवाली के बाद कॉलेजों में व्यक्तिगत उपस्थिति के साथ कक्षाएं फिर से शुरू हो सकती हैं.

(एजेंसी के इनपुट के साथ)

LIVE TV

Trending news