शाहीन बाग प्रोटेस्‍ट को लेकर ये वीडियो सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल

बीजेपी नेता मालवीय ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'शाहीन बाग प्रोटेस्‍ट प्रायोजित है... सारा कांग्रेस का खेल है'...

शाहीन बाग प्रोटेस्‍ट को लेकर ये वीडियो सोशल मीडिया पर हो रहा वायरल
फाइल फोटो

नई दिल्‍ली : नागरिकता कानून (Citizenship Amended Act) एवं राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के खिलाफ दिल्‍ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में करीब महीने भर से धरने पर बैठी महिलाओं को लेकर बीजेपी नेता अमित मालवीय (Amit Malaviya) ने ट्वीट किया है, जिसमें एक युवक यह बता रहा है कि इस धरने में बैठने के लिए महिलाओं की शिफ्ट लगी है और इसके लिए उन्‍हें 500 से लेकर 700 रुपए भी मिल रहे हैं. बीजेपी नेता ने इस ट्वीट में लिखा, शाहीन बाग विरोध का पर्दाफाश... इसके आगे उन्‍होंने लिखा, सब पैसे के लिए है.

बीजेपी नेता मालवीय ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'शाहीन बाग प्रोटेस्‍ट प्रायोजित है... सारा कांग्रेस का खेल है'.

 

 

दरअसल, CAA और NRC के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में धरने पर बैठी महिलाओं का कहना है कि नागरिकता को लेकर केंद्र सरकार द्वारा लिए गए हालिया फैसले संविधान के खिलाफ हैं. और इसकी कारण वे नागरिकता संबंधी प्रमाण नहीं दिखाएंगी.

अगर इस वीडियो की बात करें तो इसमें दो लोग आपस में बात करते दिख रहे हैं, जिसमें एक युवक बता रहा है कि इस धरने में औरतों को शामिल होने के लिए 500-700 रुपये दिए जा रहे हैं और ये शिफ्ट में धरने पर बैठती हैं. वह कह रहा है कि जैसे 100 महिलाएं धरने पर बैठी हैं तो उनके जाने पर 100 ही महिलाएं तुरंत धरने में शामिल हो जाती हैं, यानि उनकी संख्‍या कम नहीं होनी चाहिए. 

साथ ही वीडियो में यह युवक आगे कह रहा है कि इस धरने में बैठी महिलाओं के लिए चार-बिरयानी सभी चीजों का इंतजाम किया गया है. वह युवक आगे कह रहा है कि ये लोग बस पैसा कमा रहे हैं, ये विरोध वगैरह कुछ नहीं हो रहा.

वहीं, बीजेपी प्रवक्‍ता संबित पात्रा ने भी यह ट्वीट करते हुए लिखा, कश्मीर में 500 रुपये में पत्थरबाज़ी कराते थे, शाहीन बाग में 500 रुपये में बग़ावत कराते हैं. ये कौन हैं, जो चंद रुपयों के लिए बेबस हिंदुओं, सिखों, जैनियों, बौध और ईसाइयों की पीड़ा को नज़रअंदाज कर केवल अपनी जेबों की चिंता करते है?

 

 

(नोट : ZEE NEWS इस वीडियो की सत्‍यता की पुष्टि नहीं करता)