शिवसेना का सामना के जरिए BJP पर हमला, कहा- SC की वजह से हो रहा है राम मंदिर निर्माण

लोकसभा चुनाव 2024 में होगें इसीलिए प्रभु श्री राम प्रचार के मुख्य अतिथि होंगे यह तय हो चुका है क्योंकि पाकिस्तान या सर्जिकल स्ट्राइक आदि मुद्दे 2024 में नहीं चलेंगे.

शिवसेना का सामना के जरिए BJP पर हमला, कहा- SC की वजह से हो रहा है राम मंदिर निर्माण
प्रतीकात्मक फोटो

मुंबई: शिवसेना (Shivsena) ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए बीजेपी (BJP) और प्रधानमंत्री मोदी पर फिर से हमला बोला है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना की संपादकीय में लिखा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के कारण अयोध्या में राम मंदिर बन पा रहा है लेकिन इसका फायदा साल 2024 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी को मिलेगा. राममंदिर के लिए शिवसैनिकों ने भी बलिदान दिया लेकिन शिवसेना ने इसका कभी फायदा उठाने की कोशिश नहीं की.

शिवसेना ने शुक्रवार को अपने मुखपत्र सामना की संपादकीय आगामी 15 दिनों में मंदिर निर्माण का कार्य शुरू होगा. ट्रस्ट द्वारा ऐसा निश्चय किया गया है 2024 तक काम पूरा हो जाएगा तो इसका लाभ भारतीय जनता पार्टी को मिलेगा. सामना ने केंद्र सरकार पर कटाक्ष किया गया कि लोकसभा चुनाव 2024 में होगें इसीलिए प्रभु श्री राम प्रचार के मुख्य अतिथि होंगे यह तय हो चुका है क्योंकि पाकिस्तान या सर्जिकल स्ट्राइक आदि मुद्दे 2024 में नहीं चलेंगे.

मंदिर निर्माण समिति का अध्यक्ष पूर्व कैबिनेट सचिव नृपेंद्र मिश्र को बनाया गया. नृपेंद्र मिश्र प्रधानमंत्री मोदी के विश्वास पात्र हैं. राम मंदिर कार्य पर मोदी ने नजर रखी हुई है और इसके लिए कालावधी निश्चित कर ली गई है चंपत राय विश्व हिंदू परिषद के महत्वपूर्ण नेता हैं. पीएम मोदी के हाथ से राम मंदिर की भूमि पूजन होगा. ये तो ठीक है लेकिन सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, मुलायम सिंह यादव, नीतीश कुमार और शरद पवार जैसे देश के बड़े नेताओं को भूमि पूजन के कार्यक्रम में नहीं बुलाया जाना गलत है. अगर ऐसा हुआ तो ये एक पार्टा का ही कार्यक्रम होकर रह जाएगा.

सामना में आगे कहा गया है कि ये सच है कि शिवसेना बजरंग दल अन्य कुछ हिंदूवादी दल संगठन भी इस आंदोलन में शामिल हुए थे. इसे कैसे भूला जा सकता है कि कारसेवकों की शहादत से सरयू लाल हो गई उस समय देशभर के शिव सैनिकों का रक्त खौलता दिख रहा था. बीबीसी के मार्क टुली ने अयोध्या आंदोलन का जो वीडियो बनाया उसमें बाबरी के आस-पास आक्रमण करने वालों में शिवसेना के कई परिचित चेहरे दिखते हैं.

आपको बता दें कि शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे 7 मार्च 2020 को अयोध्या में प्रभु श्री राम के दर्शन करने जाने वाले हैं. शिवसेना ने ये भी मांग उठाई कि अमर जवान ज्योति की तरह अयोध्या में सरयू नदी के किनारे राम मंदिर के लिए शहीद वीरों के लिए स्मारक बनाने की मांग की.

LIVE TV