close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Barmer: सीएम Gehlot ने किया ड्रीम प्रोजेक्ट का अवलोकन, कहा- जल्द बदलेगी मारवाड़ की तस्वीर

रिफायनरी क्षेत्र के दौरे के दौरान मुख्यमंत्री गहलोत ने एचपीएसीएल के अधिकारियों के साथ निर्माण कार्य को जांचा. 

Barmer: सीएम Gehlot ने किया ड्रीम प्रोजेक्ट का अवलोकन, कहा- जल्द बदलेगी मारवाड़ की तस्वीर
गहलोत ने पचपदरा की रिफाइनरी को देश का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट बताया.

बाड़मेर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने एकदिवसीय दौरे को लेकर बाड़मेर पहुंचे. बाड़मेर के पचपदरा में रिफाइनरी क्षेत्र में बने हैलीपेड पर उतरते ही पचपदरा विधायक मदन प्रजापत, बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन, शिव विधायक अमीन खान समेत कांग्रेसजनों ने गुलदस्ते भेंट कर उनका स्वागत किया. इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, पशुपालन विभाग एवं खनन मंत्री प्रमोद जैन भाया भी मौजूद रहे. 

रिफायनरी क्षेत्र के दौरे के दौरान मुख्यमंत्री गहलोत ने एचपीएसीएल के अधिकारियों के साथ निर्माण कार्य को जांचा. वहीं क्षेत्र में हो रहे कार्यों की जानकारी ली. रिफाइनरी स्थित कार्यालय पहुंचकर गहलोत ने रिफाइनरी प्रोजेक्ट के मॉडल पर चर्चा करते हुए संपूर्ण जानकारी ली. उन्होंने एचपीएसीएल के अधिकारियों के साथ बैठक कर रिफाइनरी के कार्यों में तेजी लाने की बात कही.

पचपदरा की रिफाइनरी को देश का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट बताया
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए पचपदरा की रिफाइनरी को देश का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट बताया. गहलोत ने कहा कि आने वाले समय में ये प्रोजेक्ट राजस्थान की तस्वीर बदलने का काम करेगा. साथ ही रोजगार के अवसर भी उपलब्ध होंगे. उन्होंने कहा कि अब तक 18 सौ करोड़ का काम हो चुका है और आने वाले समय 18 हज़ार के प्रोजेक्ट निकलेंगे और कार्यों को गति मिलेगी.

टेक्निकल क्षेत्र में आगे आएं युवा
उन्होंने स्थानीय लोगों को रोजगार देने के सवाल पर कहा कि रिफाइनरी को लेकर टेक्निकल लोगों की आवश्यकता होगी. ऐसे में यहां के युवा मेहनत करें और टेक्निकल क्षेत्र में आगे आएं ताकि रोजगार का अवसर उन्हें मिले. साथ ही उन्होंने 2022 तक रिफाइनरी का प्रोजेक्ट पूरे होने की बात कही.

गौरतलब है कि रिफाइनरी मुख्यमंत्री का महत्वकांक्षी प्रोजेट है और इसे समय पर पूरा कर वे मारवाड़ की तस्वीर बदलने का सपना संजोए हुए हैं हालांकि इस प्रोजेक्ट को लेकर जमकर सियासत हुई लेकिन गहलोत अब इस प्रोजेक्ट पर न किसी तरह की सियासत और न ही किसी तरह का अवरोधक चाहते हैं. 

भूपेश आचार्य के साथ अरुण हर्ष की रिपोर्ट, जी मीडिया