असम पुलिस की सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी, भड़काऊ पोस्ट करने के मामले में 6 गिरफ्तार

पुलिस के सोशल मीडिया मॉनिटरिंग टीम को 179 ऐसे पोस्ट मिले हैं जो भड़काऊ हैं और मापदंडों का पालन नहीं करते. 

असम पुलिस की सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी, भड़काऊ पोस्ट करने के मामले में 6 गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

डिब्रूगढ़: भारत के उत्तर-पूर्वी राज्य असम में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act- CAA) के खिलाफ लगातार हो रहे प्रदर्शनों के चलते असम पुलिस ने शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफॉर्म्स पर निगरानी कड़ी कर दी है. इसी के तहत पुलिस के सोशल मीडिया मॉनिटरिंग टीम को 179 ऐसे पोस्ट मिले हैं जो भड़काऊ हैं और मापदंडों का पालन नहीं करते. 

असम पुलिस के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर, जीपी सिंह ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा कि, "असम पुलिस ने 179 सोशल मीडिया पोस्ट को चिन्हित किया है जो भड़काऊ हैं और मापदंडों का पालन नहीं करते. इस मामले में पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि 30 लोगों को अपने पोस्ट हटाने की सलाह दी गई है.'' एडीजी ने आगे कहा कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर निगरानी जारी रहेगी. 

ये भी पढ़ें: नागरिकता कानून को लेकर Zee News ने शुरू किया जागरूकता अभियान, आप भी जुड़ें

पुलिस ने सोशल मीडिया यूजर्स से ऐसे भड़काऊ पोस्टों को शेयर न करने की सलाह दी है. आपको बता दें कि संसद द्वारा नागरिकता संशोधन विधेयक (CAA) पारित करने के बाद पिछले सप्ताह असम के कुछ हिस्सों में इसके खिलाफ रैलियां निकाली गईं जिसने हिंसक रूप ले लिया. गुवाहाटी, तिनसुकिया में कर्फ्यू लगाया गया था इसके अलावा असम के 10 जिलों में धारा 144 लगाई गई थी. 
इस पूरे मामले में पांच लोगों के मारे जाने की खबर है. 

ये भी पढ़ें: उपद्रवियों पर कर सकता था फायरिंग, लेकिन मैंने हवा में गोली चलाई: एडिशनल डीसीपी

कांग्रेस का प्रदर्शन आज
आपको बता दें कि अभी भी देश के कई इलाकों में CAA के खिलाफ प्रदर्शनों का दौर जारी है. इस कानून के खिलाफ कांग्रेस  सोमवार को राजघाट (Rajghat) पर धरना देगी. कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेताओं के इस धरने में शामिल होने की संभावना है. कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि यह धरना सीएए और एनआरसी के खिलाफ छात्रों के आंदोलन और नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ है. 

कांग्रेस ने दिल्ली के राजघाट में विरोध प्रदर्शन आयोजित करने के अलावा सोमवार को कुछ राज्यों में शांति मार्च करने की योजना बनाई है. आज सुबह राहुल गांधी ने ट्वीट कर छात्रों और युवाओं से इस धरने में शामिल होने का आह्वान किया है.