UP और MP में सियासी मास्टरस्ट्रोक पर बीजेपी ने कसा तंज, कही ये बात

बीजेपी ने परशुराम की मूर्ति लगाने के पीछे सपा की मानसिकता पर तंज कसा है वहीं मध्य प्रदेश में चुनावी क्षेत्र को पवित्र करने के लिए शुरू हुए गंगा जल अभियान पर भी बड़ा सवाल खड़ा किया है.

UP और MP में सियासी मास्टरस्ट्रोक पर बीजेपी ने कसा तंज, कही ये बात
भाजपा सांसद और लोकसभा में पार्टी के मुख्य सचेतक राकेश सिंह का फाइल फोटो।

नई दिल्ली: भाजपा सांसद और लोकसभा में पार्टी के मुख्य सचेतक राकेश सिंह (Rakesh Singh) ने कहा है कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में समाजवादी पार्टी (SP) जिस मानसिकता से परशुराम की मूर्ति खड़ी कर रही है, उसके पीछे उनकी जहर फैलाने वाली मानसिकता है. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी परशुराम (Parashuram) की मूर्ति लगाए इससे किसी को कोई आपत्ति नहीं हैं. लेकिन इसके पीछे उनकी मानसिकता गलत है.

उन्होंने आगे कहा कि जब राज्य में सपा की सरकार थी, उस वक्त किसी को भी परशुराम याद नहीं आए. लेकिन आज अचानक उनको याद आया है कि भगवान की मूर्ति लगानी है. उन्होंने यूपी के पूर्व सीएम पर तंज कसते हुए कहा कि उस वक्त जो पाठ अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पढ़ा और पढ़ाया करते थे वो एक बार फिर से देख लें तो उनको अपनी स्थिति पता चल जाएगी.

बताते चलें कि राम मंदिर भूमि पूजन के मौके पर जहां सभी राजनीतिक पार्टियों की ओर से भगवान राम को लेकर जयकारे लगाए गए तो वहीं खुद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी भूमि पूजन की सुबह सिया के राम को याद किया. लेकिन अब अखिलेश यादव ऋषि परशुराम की प्रतिमा लगवाने की तैयारी कर चुके हैं. समाजवादी पार्टी का दावा है कि परशुराम की ये प्रतिमा यूपी की सबसे ऊंची और भव्य प्रतिमा होगी. भगवान परशुराम की भव्य प्रतिमा के डिजाइन को फाइनल करने के लिए समाजवादी पार्टी के महासचिव और पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा कुछ और नेताओं के साथ जयपुर में मौजूद हैं. देश के बड़े मूर्तिकार अर्जुन प्रजापति और अटल जी की मूर्ति बनाने वाले मूर्तिकार राजकुमार से भी बातचीत चल रही है. बताया जा रहा है कि इस प्रतिमा की ऊंचाई 108 फिट रखी जाएगी. 

मध्‍य प्रदेश में गंगाजल अभियान पर बीजेपी का प्रहार
मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh)  में 27 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में जीत दर्ज करने के लिए कांग्रेस (Congress) ने सभी विधानसभा उपचुनावों वाले क्षेत्रों में घर-घर गंगा जल बांटने के अभियान की शुरुआत की है. वोट बटोरने के लिए कांग्रेस के इस फैसले पर बीजेपी सांसद राकेश सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी क्षेत्र की जनता का कितनी बार अपमान करेगी. कमलनाथ (Kamalnath) क्या कहना चाह रहे हैं? क्या कांग्रेस क्षेत्र की जनता को अपमानित करने के लिए ये अभियान चला रही है? कांग्रेस पार्टी को सबसे पहले अपने पापों का शुद्धिकरण करना चाहिए था. किसी विधानसभा क्षेत्र को पवित्र करने का मतलब क्या है? वहां जनता रहती है जनता को अपवित्र कहना क्या सही है. तत्काल कांग्रेस पार्टी और कमलनाथ को इसके लिए जनता से क्षमा मांगना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस कन्फ्यूज है तभी वह राम के अस्तित्व को नकारते थे. लेकिन अब उनके पीछे छिपने की कोशिश कर रहे हैं. आशीर्वाद लेने की कोशिश कर रहे हैं.

LIVE TV