close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: आर्थिक मंदी पर कांग्रेस की 'मोर्चाबंदी' होगी शुरू, प्रदेश पर भी सोनिया ने दिए निर्देश

दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में गुरुवार को कांग्रेस की हाईलेवल मीटिंग के दौरान कई मुद्दों पर चर्चा हुई.

राजस्थान: आर्थिक मंदी पर कांग्रेस की 'मोर्चाबंदी' होगी शुरू, प्रदेश पर भी सोनिया ने दिए निर्देश
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद सोनिया गांधी की यह पहली बड़ी बैठक थी.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार और खोते जनादेश से जूझ रही कांग्रेस में एक बार फिर से सोनिया गांधी ने जान फूंकने की कोशिश की. इसी को लेकर दिल्ली में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में गुरुवार को कांग्रेस की हाईलेवल अहम मीटिंग हुई. 

बैठक में संगठन और सदस्यता अभियान को लेकर चर्चा की गई. साथ ही देश के वर्तमान आर्थिक हालात को लेकर भी चिंता जताई गई. आर्थिक मंदी पर सोनिया गांधी और डॉ मनमोहन सिंह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित भी किया. 

20 सितंबर को राजस्थान में प्रदर्शन
सूत्र बताते हैं कि बैठक में तय हुआ है कि केंद्र की मोदी सरकार की आर्थिक नितियों के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ता 10 सितंबर को देशव्यापी प्रदर्शन करेंगे. जबकि राजस्थान में 20 सितंबर को जिला मुख्यालय पर आर्थिक नीतियों के विरोध में प्रदर्शन होगा . 

LIVE TV देखें:

महात्मा गांधी की जयंती पर होंगे विशेष कार्यक्रम
राजस्थान के कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने बताया कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर सभी राज्यों में 2 अक्टूबर से 9 अक्टूबर तक विशेष कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. एक सप्ताह तक कांग्रेस के कार्यकर्ता लोगों के बीच जाएंगे और गांधी के संदेश और विचारों को लोगों तक पहुंचाएंगे. 

आम लोगों से जुड़ने की पहल
बैठक में बीजेपी और आरएसएस की तर्ज पर सदस्यता अभियान चलाने और संगठन को मजबूत करने पर जोर दिया गया. सोनिया गांधी ने सख्त निर्देश दिए हैं कि कार्यकर्ता सोशल मीडिया के अलावा ग्रास रूट पर जाकर जनता से सीधे जुड़े. उधर राज्यों में दो पावर सेंटर को लेकर चल रहे विवाद पर भी सोनिया गांधी सख्त नजर आईं. 

पॉवर सेंटर्स पर मिले निर्देश
उन्होंने दो पावर सेंटर्स को खत्म कर सीनियर और जूनियर्स के बीच चल रही तकरार को खत्म कर संगठन को मजबूत करने के भी निर्देश दिए है.

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनने के बाद सोनिया गांधी की यह पहली बड़ी बैठक थी. सोनिया गांधी के अध्यक्षता में दिल्ली में हुई यह बैठक करीब 3 घंटे चली. बैठक में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष, कांग्रेस शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री, प्रदेश प्रभारी, प्रभारी सचिव और महासचिव शामिल हुए.