close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चौमूं: पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी ने ली अधिकारियों की बैठक, रामलाल शर्मा ने उठाए सवाल

बैठक को लेकर विधायक रामलाल शर्मा ने कहा कि बैठक सिर्फ उगाही करने के लिए की गई है यानी विधायक रामलाल शर्मा ने सीधे-सीधे भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए हैं.

चौमूं: पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी ने ली अधिकारियों की बैठक, रामलाल शर्मा ने उठाए सवाल
बैठक को लेकर विधायक रामलाल शर्मा ने कहा कि बैठक सिर्फ उगाही करने के लिए की गई है

प्रदीप सोनी, जयपुर: राजधानी के चौमूं कस्बे में दीपावली के त्योहार को लेकर नगर पालिका के सभागार में देर शाम को पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी और एसडीएम हिम्मत सिंह ने उपखंड स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए. बिजली पानी सड़क को लेकर अधिकारियों से चर्चा की गई. 

इस बैठक में एसीपी फूलचंद मीणा, कालाडेरा और सामोद थानाधिकारी के अलावा बिजली और जलदाय विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे. बैठक में पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी अधिकारियों को कई तरह के दिशा निर्देश देते हुए नजर आए. इस बैठक की खास बात यह भी रही कि इस बैठक में विधायक रामलाल शर्मा और चेयरमैन अर्चना कुमावत को दूर रखा गया. वहीं इस बैठक को लेकर विधायक रामलाल शर्मा ने भी सवाल खड़े कर दिए हैं. 

बैठक को लेकर विधायक रामलाल शर्मा ने कहा कि बैठक सिर्फ उगाही करने के लिए की गई है यानी विधायक रामलाल शर्मा ने सीधे-सीधे भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए हैं. शर्मा ने कहा की पूर्व विधायक किस हैसियत से बैठक ले रहे हैं. यह तो समझ से परे है लेकिन इस बैठक के नाम पर पूर्व विधायक अधिकारी कर्मचारियों को सत्ता का डर दिखाकर उगाही करने का काम कर रहे हैं. जब जनता ने ही पूर्व विधायक को नकार दिया तो फिर जबरन इस तरह से सत्ता होने का फायदा उठाया जा रहा है. 

वहीं बैठक से बाहर निकले कर्मचारी अधिकारी भी दबी जुबान में यह कहते नजर आए कि आखिर इस बैठक का औचित्य क्या है. सवाल ये खड़ा होता है कि पूर्व विधायक ने अधिकारियों की बैठक प्रदेश में सरकार कांग्रेस की होने के नाते ही ली है या फिर इसके पीछे कोई दूसरा राज है. इस बैठक में एसडीएम हिम्मत सिंह खुद भी कह रहे हैं कि यह बैठक पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी के साथ की गई है और वहीं पूर्व विधायक सैनी कहते-कहते एसडीएम साहब की जबान फिसल गई और वह उनको एमएलए भी बोल गए. हालांकि बाद में उन्होंने सुधार भी कर लिया. वहीं पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी ने कहा कि यह बैठक दीपावली के त्यौहार को लेकर की गई है.