शख्‍स ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, कचरे के पास मिले 10 लाख रुपए लौटाए, बना लखपति

कपड़े के शोरूम में काम करने वाले सूरत के दिलीप पोद्दार ने 10 लाख रुपयों से भरे बैग को उसके मा‍लि‍क को लौटा दिया.

शख्‍स ने पेश की ईमानदारी की मिसाल, कचरे के पास मिले 10 लाख रुपए लौटाए, बना लखपति
दिलीप की ईमानदारी से खुश होकर उन्‍हें माल‍िक ने 2 लाख का ईनाम दिया.

सूरत: गुजरात के सूरत से ईमानदारी की मिसाल पेश करने वाला किस्सा सामने आया है. ईमानदारी की मिसाल पेश की है साधारण सी नौकरी करने वाले दिलीप पोद्दार ने. उन्‍होंने कचरे की पेटी के पास मिले 10 लाख रुपए उसके असली मालिक को लौटा दिए. इससे खुश होकर पैसे के मालिक ने उन्‍हें 2 लाख रुपए इनाम दिया. सूरत के उमरा इलाके में रहने  वाले दिलीप पोद्दार पार्ले पॉइंट स्थित एक कपड़े के शोरूम में काम करते हैं. तीन दिन पहले दिलीप अपने घर से कपड़े के शोरूम  की तरफ नौकरी के लिए जा रहे थे. उसी दौरान उन्‍हें कचरे की पेटी के पास एक लावारिस बैग नजर आया.

पहले तो दिलीप को लगा कि उस बैग में शायद मोबाइल है. दिलीप ने बैग को उठाया और उसकी जाँच की. जब उसने बैग उठाकर उसके अंदर देखा तो दिलीप को अपनी आँखों पर भरोसा नहीं हुआ. इसका कारण यह था कि उस बेग में मोबाइल नहीं पैसे के बंडल रखे थे. दो दो हजार के नोट के रूप में 10 लाख रुपए रखे थे. दिलीप उस बैग को लेकर तुरंत ही कपड़े के शोरूम पर पहुंचे. उन्‍होंने शोरूम के मैनेजर को इस बारे में बताया. मैनेजर ने दिलीप को सलाह दी की कि वह इस पैसे को अपने घर जाकर रख आओ. जिसका होगा खुद लेने आ जाएगा. दिलीप ने इसके बारे में अपने पड़ोसी को भी बताया कि उन्‍हें दस लाख रुपए से भरा बेग मिला है. तब लोगों ने उसे पुलिस थाने में जाकर यह पैसे जमा करवा देने के लिए कहा, लेकिन दिलीप की हिम्मत पुलिस थाने तक जाने की नहीं हुई.

दिलीप को 10 लाख रुपए से भरा बेग मिला है यह बात बिजली की रफ्तार से आसपास के इलाके में फैल गई. जानकारी मिलने के बाद पुलिस का काफिला दीपक के घर पहुंचा. दीपक ने बताया की उसे दस लाख रुपए से भरा बेग मिला है, तब पुलिस दिलीप को उमरा थाने लेकर आ गयी. इसके बाद पुलिस ने पार्ले पॉइंट इलाके के सभी सीसीटीवी कैमरों को खंगालना शुरू किया. पुलिस ने जाँच के दौरान कई कारों की स्केनिंग भी की और इस मशक्कत से पैसे के असली मालिक का पुलिस को पता लग गया. पुलिस कार के नंबर के आधार पर एक ज्वेलर्स के शोरूम तक पहुंची. जहां ज्वेलर्स शोरूम के मालिक ह्रदय पच्चीगर ने इस बात को स्वीकार किया की उनके शोरूम में आते समय एक गांव से आ रहे ग्राहक के पैसे कार से गिर गए थे. जो महिला यह पैसे लेकर उनके शोरूम में आ रही थी उसके बेटे ने होली का त्यौहार सामने होने की वजह से पिचकारी लेने की अपनी माँ से जिद की थी. उसी दौरान कार से उतरते वक्त पैसों से भरा बेग कार से नीचे गिर गया.
 
दिलीप ने पैसे के मालिक को पैसो से भरा बैग वापस लौटा दिया. इसके बाद पैसों के मालिक ने दिलीप की ईमानदारी से प्रभावित होकर उन्‍हें दो लाख रुपए इनाम भी दिया.