close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: सोनू हत्याकांड मामले का पुलिस ने किया खुलासा, आरोपी दोस्त गिरफ्तार

रिश्तेदारों के सामने डांटने से नाराज आशिफ गुस्से की आग में जल रहा था और उसने इसका बदला लेने की ठानी. बदले की आग में जल रहे आशिफ ने सोनू की हत्या की साजिश का प्लान बनाया. 

राजस्थान: सोनू हत्याकांड मामले का पुलिस ने किया खुलासा, आरोपी दोस्त गिरफ्तार
फाइल फोटो

जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर के हरमाड़ा इलाके में युवक सोनू हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. युवक की हत्या उसके ही दो दोस्तों ने धारदार हथियार से गला रेतकर कर दी थी. पुलिस ने दोनों आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. 

युवक सोनू और आशिफ के बीच गहरी दोस्ती थी, एक दूसरे को घर दोनों के घर आना जाना था. धीरे-धीरे सोनू के रिश्तेदारों के यहां भी आशिफ आना-जाना करने लगा था. पुलिस की मानें तो सोनू के रिश्ते में लगने वाली बहन से आशिफ की धीरे-धीरे नजदीकियां बढ़ने लगी थी. आशिफ की ये हरकत सोनू के रिश्तेदार को नागवार गुजरी और इसको लेकर नाराजगी जाहिर की. रिश्तेदारों ने आशिफ की हरकतों की शिकायत सोनू से कर दी, जिसके बाद सोनू ने अपने रिश्तेदार के घर ही आशिफ को जमकर डांट फटकार दिया.

बदला लेने के लिए दोस्त की हत्या
रिश्तेदारों के सामने डांटने से नाराज आशिफ गुस्से की आग में जल रहा था और उसने इसका बदला लेने की ठानी. बदले की आग में जल रहे आशिफ ने सोनू की हत्या की साजिश का प्लान बनाया. आशिफ ने अपनी साजिश में संजय नाम के दोस्त को भी शामिल कर लिया. दोनों आरोपी दीवार पर चढ़कर सोनू के कमरे में घुसे और पहले उसके सिर पर पत्थर से वार किया, पत्थर से वार करने के साथ ही सोनू के सिर से खून बहने लगा और वो छटपटाने लगा, लेकिन आशिफ पर खून सवार था, उसने धारदार हथियार से सोनू का गला रेत दिया. इसके साथ ही सोनू का पूरा जिस्म ढीला पड़ गया.

पुलिस की तहकीकात में नहीं छिप सका राज
रविवार सुबह हत्या की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर मामले की जांच शुरू की तो पता चला कि सोनू ट्रांसपोर्ट फर्म में काम करता था और किराए के मकान में रहता था. मृतक की गर्दन पर धारदार हथियार से वार कर हत्या की गई थी. जांच के दौरान पुलिस को शक हुआ कि हत्या में किसी परिचित का हाथ हो सकता है. पुलिस ने मृतक के तमाम करीबियों की जानकारी जुटाकर नजर रखनी शुरू कर दी. संदेह होने पर पुलिस ने जब आशिफ और संजय को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो पूरे मामले का खुलासा हो गया.

--सुजीत कुमार, न्यूज डेस्क