Chhattisgarh: कलेक्टर ने बीच सड़क चांटा मार तोड़ा युवक का फोन, सीएम Bhupesh Baghel ने लिया एक्शन

सूरजपुर जिले के कलेक्टर रणबीर शर्मा ने कोरोना लॉकडाउन के दौरान अपनी सरकारी ताकत का बेजा इस्तेमाल करते हुए एक बच्चे के साथ ऐसा व्यवहार किया कि पूरे देश में उनकी इस हरकत की आलोचना हो रही है. सोशल मीडिया पर उनके चांटे की गूंज बहुत दूर तक सुनाई दी.

Chhattisgarh: कलेक्टर ने बीच सड़क चांटा मार तोड़ा युवक का फोन, सीएम Bhupesh Baghel ने लिया एक्शन
फोटो ग्रैब साभार: (ट्विटर)

रायपुर: भारत अभी तक कोरोना की दूसरी लहर (Corona Second Wave India) से उबर नहीं पाया है. देश की 90 फीसदी से ज्यादा आबादी लॉकडाउन (Lockdown) या कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) के दायरे में सिमटी है. सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को पाबंदियों से छूट दी गई है. ऐसे में इन बंदिशों को प्रशासन लागू कराने की पूरी कोशिश कर रहा है. कहीं अच्छे नतीजे सामने आए तो कहीं पर लोग अभी तक सुधरने को तैयार नहीं दिख रहे हैं.

इस बीच छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले से एक ऐसा वाकया सामने आया है जिसने कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को रोकने में लगे प्रशासनिक अमले को सवालों के घेरे में खड़ा कर दिया. यहां एक कलेक्टर ने युवक को चांटा मार कर उसका फोन तोड़ दिया था. इस केस में कलेक्टर के माफी मांगने के बावजूद उनकी छुट्टी कर दी गई है. मुख्यमंत्री के दखल के बाद सीएमओ (CMO) की ओर से जारी आदेश में आईएएस गौरव कुमार सिंह (IAS Gaurav Kumar Singh) को सूरजपुर का नया जिला कलेक्टर बनाने की जानकारी दी गई है.

पहले मोबाइल तोड़ कर पीटा फिर मांगी माफी

सूरजपुर जिले के कलेक्टर रणबीर शर्मा (Ranbir Sharma) ने कोरोना लॉकडाउन के दौरान अपनी सरकारी ताकत का बेजा इस्तेमाल करते हुए एक बच्चे के साथ ऐसा व्यवहार किया कि पूरे देश में उनकी इस हरकत की आलोचना हो रही है. सोशल मीडिया पर उनके चांटे की गूंज बहुत दूर तक सुनाई दी.

दरअसल सूरजपुर में कोरोना लॉकडाउन को लागू कराने की जिम्मेदारी उनके कंधों पर थी लेकिन कलेक्टर होने की हनक में वो अपना आपा खो बैठे और जरूरी काम से बाजार आए एक बच्चे का पहले तो मोबाइल लेकर सड़क पर पटक दिया. इसके बाद उसे थप्पड़ मारा और पुलिस वाले से डंडे भी पड़वाए. बात निकली तो दूर तक गई और फिर कलेक्टर साहब को माफी मांगनी पड़ी.

ये भी पढे़ं- कलेक्टर और डीएम में क्या होता है अंतर, जानिए DM, SDM और तहसीलदार की पगार

मुख्यमंत्री ने की कार्रवाई 

सोशल मीडिया की ताकत का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि महज चंद घंटों के भीतर मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने कार्रवाई करते हुए कलेक्टर को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है. सीएम ने ट्वीट में लिखा, 'सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा एक नवयुवक से दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है. ये बेहद दुखद और निंदनीय है. छत्तीसगढ़ में इस तरह का कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं. मैं इस घटना से क्षुब्ध हूं इसलिए नवयुवक व उनके परिजनों से खेद जताता हूं.'

VIDEO-

ये भी पढ़ें- Corona Data India: नए कोरोना मरीजों के आंकड़े में लगातार कमी जारी, कई दिन बाद घटा मौत का आंकड़ा

युवक के परिजनों का छलका दर्द

घटना के बाद जिस युवक के साथ डीएम ने अभद्रता की  थी उसके परिजनों ने अपना दर्द बयां करते हुए नाराजगी जताई है. पीड़ित लड़के के पिता ने कहा कि उनकी पत्नी तथा उन्हें कोरोना वैक्सीन का टीका लगा है जिसके कारण उन्होंने अपने बेटे को बाहर दवा लेने भेजा था. उन्होंने बताया कि कलेक्टर ने जो उनके बेटे के साथ व्यवहार किया, वो तकलीफदेह है.

LIVE TV

 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.