close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बहराइच में गर्भवती महिलाओं की जांच के नाम पर हो रही घूसखोरी, लैब टेक्नीशियन पर आरोप

इस मामले में जिलाधिकारी के निर्देश पर मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी (सीएमएस) द्वारा की गई जांच में आरोपी लैब टेक्नीशियन के भ्रष्टाचार का पर्दाफाश हुआ है.

बहराइच में गर्भवती महिलाओं की जांच के नाम पर हो रही घूसखोरी, लैब टेक्नीशियन पर आरोप
घूसखोरी का खुलाासा. फाइल फोटो

बहराइच : यूपी में योगी सरकार के राज में भी भ्रष्टाचार का दीमक खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला गर्भवती महिलाओं की जांच के नाम पर घूसखोरी करने का सामने आया है. घटना बहराइच के जिला अस्पताल की है. जहां के पैथालॉजी में लैब टेक्नीशियन (LT) के पद पर वर्षों से तैनात एसपी यादव नाम के कर्मचारी पर गर्भवती महिलाओं से अवैध वसूली करनें का खुलासा हुआ है. इस मामले में जिलाधिकारी के निर्देश पर मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी (सीएमएस) द्वारा की गई जांच में आरोपी लैब टेक्नीशियन के भ्रष्टाचार का पर्दाफाश हुआ है.

इस मामले का खुलासा तब हुआ जब शिवपुर ब्लाक की रहने वाली कंचन श्रीवास्तव नाम की एक गर्भवती महिला डॉक्टर के परामर्श पर अस्पताल के लैब में अपनी जांच कराने पहुंची. जहां आरोपी लैब टेक्नीशियन एसपी यादव ने उससे जांच के नाम पर 500 रुपये की घूस की डिमांड की. जब महिला ने 500 रुपये की रिश्वत देने से इनकार कर दिया तो आरोपी एलटी ने उसे लैब से धक्का देकर भगा दिया.

पीड़ित महिला ने इस मामले की शिकायत जिलाधिकारी शम्भू कुमार से की. इसपर DM ने पूरे मामले की जांच सीएमएस से कराई. जिला अस्पताल के सीएमएस डॉ डीके सिंह ने बताया कि जांच में गर्भवती महिलाओं की जांच के नाम पर घूसखोरी की पुष्टि हुई है, जिसको लेकर आरोपी लैब टेक्नीशियन को जिले से बाहर ट्रांसफर करने की सिफारिश शासन को भेजी गई है. साथ ही इस प्रकरण को काफी गंभीर मामला माना है.