close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाप धोने के लिए कुंभ में गंगा स्नान कर रही है योगी सरकार: ओम प्रकाश राजभर

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने बुधवार को एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा.

पाप धोने के लिए कुंभ में गंगा स्नान कर रही है योगी सरकार: ओम प्रकाश राजभर
योगी कैबिनेट के मंत्री ओपी राजभर अपनी ही सरकार से नाराज चल रहे हैं. (फाइल फोटो)

बलिया: भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने बुधवार को एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा. ओम प्रकाश राजभर ने प्रयागराज में मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी कैबिनेट के मंत्रियों द्वारा गंगा स्नान किये जाने पर तंज कसा है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार अपने पाप धोने के लिये कुंभ में गंगा स्नान कर रही है.

उन्होंने दावा किया कि योगी आदित्यनाथ सरकार में सपा और बसपा सरकार की तुलना में चार गुना अधिक भ्रष्टाचार है. अक्सर अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी करने वाले राजभर ने कहा कि योगी सरकार के मंत्रिपरिषद सदस्य कुंभ में अपना पाप धोने के लिये गये थे. जनता से वादाखिलाफी भी पाप है. इसी को धोने का काम योगी सरकार के मंत्रियों ने किया है.

बाज नहीं आ रहे हैं योगी के मंत्री राजभर, अब राहुल गांधी को बता दिया PM कैंडिडेट

उल्लेखनीय है कि योगी मंत्रिपरिषद के सदस्यों ने मंगलवार को कुंभ में गंगा स्नान किया था. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा अयोध्या में अधिगृहीत भूमि को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर किये जाने के बारे में पूछे गये सवाल पर ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि यह जनता को बेवकूफ बनाने की कवायद है. इससे पहले मंगलवार को कुंभ मेले में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की कैबिनेट की बैठक हुई. ओम प्रकाश राजभर ने इसका बहिष्‍कार किया था.

उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री का आरोप, कहा- 'मंदिर मुद्दे पर गुमराह कर रहे मुख्यमंत्री'

ओमप्रकाश राजभर द्वारा कैबिनेट बैठक के बहिष्कार के फैसले को सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू नहीं किए जाने के विरोध स्वरूप देखा जा रहा है. राजभर ने बताया है कि कैबिनेट से संबंधित पत्र उनके कार्यालय को प्राप्त हुआ था. निजी सचिव के माध्यम से बैठक में शामिल नहीं होने की सूचना उन्होंने सरकार को दे दी है. यह भी स्पष्ट किया कि उन्होंने सिर्फ प्रयागराज कैबिनेट में नहीं जाने का फैसला लिया है, लखनऊ में होने वाली बैठकों में वह पूर्ववत शामिल होते रहेंगे.

आपको बता दें कि सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट नहीं लागू होने से योगी कैबिनेट के मंत्री ओपी राजभर नाराज चल रहे हैं. उन्होंने अल्टीमेटम दे रखा है कि 24 फरवरी तक इसे लागू नहीं किया गया तो वह 25 फरवरी को गठबंधन से बाहर हो सकते हैं. 

(इनपुट: एजेंसी भाषा से भी)