देश के 9 करोड़ किसानों को PM मोदी ने दी सौगात, कृषि कानूनों पर भी बोले, पढ़ें उनके भाषण की 8 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि विपक्ष दोगली राजनीति कर रहा है. उन्होंने कहा कि विपक्ष किसानों में डर का माहौल पैदा कर रहा है. 

देश के 9 करोड़ किसानों को PM मोदी ने दी सौगात, कृषि कानूनों पर भी बोले, पढ़ें उनके भाषण की 8 बड़ी बातें

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को PM Kisan Samman Nidhi के तहत किसानों के मिलने वाले लाभ की किस्त जारी कर दी है. साथ ही, उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक महज क्लिक में लगभग 9 करोड़ किसानों के बैंक खाते में 18 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर कर दिए. इसके बाद पीएम ने किसानों से बातचीत कर सबको संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कई बड़ी बातें साझा कीं. उन्होंने कहा कि वे राजनीतिक दल, जिन्हें जनता ने भी नकार दिया था, वह आज किसानों को भड़काने का काम कर रहे हैं. लेकिन किसान डरें नहीं. सरकार उनके साथ हर कदम पर खड़ी है. जानें पीएम की बड़ी बातें...

ये भी पढ़ें: योगी सरकार ने तैयार किया डेटा सेंटर पॉलिसी का ड्राफ्ट, इस फील्ड में हैं रोजगार की अपार संभावनाएं

MSP खत्म नहीं कर रही सरकार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कृषि कानून के आने से किसान अपनी फसल कहीं भी न्यूनतम समर्थन पर बेच सकते हैं. इसलिए किसी के बहकावे में न आएं. पीएम ने ये भी कहा कि जो लोग भी कह रहे हैं कि सरकार MSP खत्म कर रही है, उन लोगों की बातों में न आएं.

विपक्ष किसानों में पैदा कर रहा डर
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि विपक्ष दोगली राजनीति कर रहा है. उन्होंने कहा कि विपक्ष किसानों में डर का माहौल पैदा कर रहा है. पिछली सरकारें किसानों को हमेशा दूसरे देश का उदाहरण दिया करती थीं. लेकिन मौजूदा सरकार मॉडर्न तरीके अपना कर खुद के पद चिन्हों पर चल रही है. 

कानून बनाने से पहले किया अध्ययन
पीएम मोदी का कहना है कि सरकार ने दुनिया भर के कृषि कानूनों का अध्ययन करने के बाद ही ये कानून बनाए हैं और कानून किसानों के हित के लिए हैं.

ये भी पढ़ें: ...जब अटल जी ने कहा था, 'आज पत्रकार मेरी हालत खराब कर रहे हैं', पढ़ें उनके कुछ बेबाक बोल

अब गलत हाथों में नहीं जाता है पैसा
पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार को लेकर कहा है कि इस सरकार में न रुपया घिसता है और न ही गलत हाथों में जाता है. किसानों का पैसा सरकार से हो कर सीधा उनके खाते में जा रहा है. बीच में किसी का हाथ नहीं लग सकता.  

किसानों के नाम पर किया जा रहा इवेंट मैनेजमेंट
पीएम का कहना है कि जो लोग किसानों के नाम पर अपने झंडे लेकर खेल खेल रहे हैं, वह अब सच्चाई भी सुनें. ये लोग मीडिया में जगह बनाकर, राजनीतिक मैदान में खुद को जिंदा रखने की कोशिश कर रहे हैं. कुछ राजनीतिक दल नए कृषि कानूनों का विरोध करके अपने एजेंडा को आगे बढ़ाने में लगे हैं. ये कोई और नहीं, बल्कि वही लोग हैं जो सालों से सत्ता में रहे हैं. इन्हीं की नीतियों की वजह से देश का किसान उतना आगे नहीं बढ़ पाया जितना उसमें सामर्थ्य था. 

ममता सरकार ने इस योजना को लटकाया
संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल की सरकार ने अपने राजनीतिक लाभ के लिए पीएम किसान सम्मान निधी योजना को राज्य में लागू नहीं होने दिया. जिसकी वजह से वहां के किसानों को इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है. उन्होंने कहा कि 15 सालों की से पश्चिम बंगाल की सरकार ने किसानों को बर्बाद कर दिया. 

ये भी पढ़ें: Indian Air Force Recruitment: अभी भी कर सकते हैं 235 पदों पर भर्ती का रजिस्ट्रेशन, जानें कैसे

अटल जी हैं कृषि कानून के सूत्रधार
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये भी कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की आज 96वीं जयंती है. जिन कृषि कानूनों को आज भारत में लागू किया जा रहा है, उनके सूत्रधार अटल जी थे. इस दौरान उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी की विभिन्न योजनाओं का जिक्र किया. पीएम मोदी ने कहा कि मौजूदा सरकार ने भ्रष्टाचार को खत्म कर दिया है. आज किसानों के खाते में सीधे राशि भेजी जाती है. लेकिन पिछली सरकारों में ऐसा नहीं था. 

हर किसान को पता है धान का सही मूल्य कहां मिलेगा
संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज हर किसान जानता है कि उसे अपने खेत की उपज का सबसे अच्छा मूल्य कहां मिलेगा. इन कृषि सुधारों के साथ, किसान कहीं भी किसी को भी अपनी उपज बेच सकते हैं. अगर किसानों को लाभ मिल रहा है तो इसमें गलत क्या गलत है?

WATCH LIVE TV