Weather: बादल या धुंध? बारिश के बाद गर्मी से राहत, लेकिन उमस अब भी; IMD ने बताया 24 घंटे कैसा रहेगा मौसम
Advertisement
trendingNow12306886

Weather: बादल या धुंध? बारिश के बाद गर्मी से राहत, लेकिन उमस अब भी; IMD ने बताया 24 घंटे कैसा रहेगा मौसम

IMD Rain Forecast: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार को कुछ इलाकों में हुई हल्की बारिश के बाद आज (25 जून) मौसम अजीब हो गया है और कुछ इलाकों में बादल छाए हुए हैं, जबकि कुछ इलाकों में धुंध नजर आ रही है.

Weather: बादल या धुंध? बारिश के बाद गर्मी से राहत, लेकिन उमस अब भी; IMD ने बताया 24 घंटे कैसा रहेगा मौसम

Weather Update 25th June 2024: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार को कुछ इलाकों में हुई हल्की बारिश के बाद लोगों को चिलचिलाती गर्मी से राहत मिली है, लेकिन मौसम में उमस अब भी है जिसने परेशानी बढ़ा दी है. दिल्ली-एनसीआर में हल्की बारिश के बाद कुछ इलाकों में आज (25 जून) भी बादल छाए हुए हैं, लेकिन कुछ इलाकों में मौसम अजीब हो गया है और धुंध नजर आ रही है. इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले 24 घंटों में भी ऐसी ही स्थिति रहने का अनुमान जताया है. इस बीच मौसम विभाग ने कई राज्यों में बारिश का अनुमान जताया है. आईएमडी के अनुसार, अगले पांच दिनों के दौरान देश के पश्चिमी तट पर भारी से बहुत भारी बारिश का अनुमान है. इसके साथ ही अगले तीन-चार दिनों के दौरान गुजरात और मध्य प्रदेश के कुछ और हिस्सों, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल, झारखंड और बिहार के शेष हिस्सों और उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं.

दिल्ली में अधिकतम तापमान अब भी 40 डिग्री

लुटियंस दिल्ली समेत राष्ट्रीय राजधानी के कुछ इलाकों में सोमवार शाम को हल्की बारिश हुई, जिसके बाद गर्मी से राहत मिली है. हल्की बारिश ने गर्मी और उमस से राहत दिलाई, लेकिन बारिश रुकते ही उमस ने लोगों को एक बार फिर परेशान कर दिया. अधिकारियों ने बताया कि लुटियंस दिल्ली, पीतमपुरा और पालम समेत शहर के कुछ इलाकों में मॉनसून से पहले की बारिश (Pre-Monsoon Rain) हुई. शहर के अन्य इलाकों में हल्की बारिश होने का अनुमान है. राष्ट्रीय राजधानी में सोमवार को अधिकतम तापमान 40.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो मौसम के औसत से दो डिग्री अधिक है. न्यूनतम तापमान 31.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से चार डिग्री अधिक है. आर्द्रता 62 से 70 प्रतिशत के बीच रहा.

दिल्ली में कब तक आएगा मॉनसून?

मौसम विभाग (IMD) ने मंगलवार को भी आसमान में बादल छाए रहने और गरज के साथ हल्की बारिश होने और तेज हवाएं चलने का अनुमान जताया है. वहीं, अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है. मौसम विभाग ने 28 जून तक आंशिक रूप से बादल छाए रहने और गरज के साथ छींटे पड़ने और हल्की बारिश होने का अनुमान जताया है. मौसम विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, अगले कुछ दिनों में लू चलने की संभावना नहीं है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में 29 या 30 जून को मॉनसून आ जाएगा, जिसके बाद बारिश होगी. उत्तर-पश्चिम भारत में आए पश्चिमी विक्षोभ के कारण पिछले दो दिनों से राजधानी में अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास है.

ये भी पढ़ें- यूपी में दस्तक देने ही वाला है मॉनसून, बांदा, बलिया, मऊ समेत 25 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

इन राज्यों में भारी बारिश की आशंका

मौसम विभाग ने कहा कि महाराष्ट्र-केरल तट से समुद्र तल पर एक द्रोणिका बनी हुई है और दक्षिण गुजरात में निचले और मध्य क्षोभमंडल स्तर पर चक्रवात जैसा हालात बना हुआ है. इनके परिणामस्वरूप अगले पांच दिनों के दौरान कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र के घाट क्षेत्रों व कर्नाटक में भारी से बहुत भारी बारिश, 24-26 जून के दौरान तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में भारी बारिश होने की संभावना है. 24 और 25 जून को गुजरात में और 25-26 जून को सौराष्ट्र और कच्छ में विभिन्न स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है. 26-28 जून के दौरान गुजरात, 27 और 28 जून को केरल, तटीय कर्नाटक, दक्षिणी आंतरिक कर्नाटक, 25-28 जून के दौरान उत्तरी आंतरिक कर्नाटक तथा 25-27 जून के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश में बारिश हो सकती है. 

कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, कर्नाटक, केरल, लक्षद्वीप, गुजरात, मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़ में गरज, बिजली और तेज हवाओं (40-50 किमी प्रति घंटे) के साथ हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है. अगले पांच दिनों के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश, रायलसीमा, तेलंगाना, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में छिटपुट से लेकर हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है. 24, 27 और 28 जून को पश्चिमी मध्य प्रदेश और विदर्भ में, 24-28 जून को मध्य प्रदेश और 26-28 जून को छत्तीसगढ़ में विभिन्न स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है.

आईएमडी के अनुसार, पूर्वोत्तर असम में निचले क्षोभमंडल स्तर पर चक्रवात जैसे हालात बने हैं. बंगाल की खाड़ी से लेकर पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत में निचले क्षोभमंडल स्तर पर तेज़ दक्षिणी/दक्षिण-पश्चिमी हवाएं चल रही हैं. इसके प्रभाव में, अगले पांच दिनों के दौरान उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिज़ोरम, त्रिपुरा में गरज और बिजली के साथ मध्यम बारिश होने की संभावना है.

यूपी-बिहार से लेकर पंजाब हरियाणा तक कैसा रहेगा मौसम?

दक्षिण-पूर्वी राजस्थान में एक चक्रवाती परिसंचरण बना हुआ है. इसके परिणामस्वरूप अगले पांच दिनों के दौरान गंगीय पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, बिहार, झारखंड, ओडिशा में गरज, बिजली और तेज हवाओं (30-40 किमी प्रति घंटे) के साथ छिटपुट से लेकर हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है. 26-28 जून के दौरान पूर्वी उत्तर प्रदेश में विभिन्न स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 28 जून को, पूर्वी राजस्थान में 24, 27 और 28 जून को तथा उत्तराखंड में 27 और 28 जून को बारिश हो सकती है. इसके अलावा, पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बिहार के कुछ इलाकों में 24-25 जून को और राजस्थान में 25-27 जून लू चलने की संभावना है. इसके बाद इसमें कमी आएगी.
(इनपुट- न्यूज़ एजेंसी भाषा और आईएएनएस)

Trending news