भविष्य के लिए तैयार किए जाएंगे 10 लाख छात्र, IBM देगी ट्रेनिंग

IBM के सीईओ गिन्नी रोमेट्टी ने कहा कि आने वाले दिनों में रोजगारों में बदलाव आने जा रहा है. इसलिए अभी से ट्रेनिंग जरूरी है.

भविष्य के लिए तैयार किए जाएंगे 10 लाख छात्र, IBM देगी ट्रेनिंग
इनमें आठवीं से 12वीं तक की 2 लाख छात्राओं को ट्रेनिंग दी जाएगी. (फाइल)

नई दिल्ली: सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की कंपनी आईबीएम ने सोमवार को कहा कि अगले तीन साल के दौरान वह विज्ञान प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित (एसटीईएम) के क्षेत्र में दस लाख के करीब छात्राओं को प्रशिक्षित करने के लिये केन्द्र और राज्य सरकारों के साथ गठबंधन करेगी. आईबीएम चेयरमैन, सीईओ गिन्नी रोमेट्टी ने कंपनी के एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘हम देख सकते हैं कि 100 प्रतिशत रोजगारों में बदलाव आने जा रहा है. आपको कार्यबल में अधिक महिलाओं की आवश्यकता है. हम अगले तीन साल के दौरान आठवीं से 12वीं तक की दो लाख छात्राओं को एसटीईएम के लिये तैयार करने जा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम तकनीकी प्रशिक्षण सत्र आयोजित करने के लिये नहीं है बल्कि गंभीर सोच विचार, जीवन कौशल सहित अन्य चीजों के लिये होगा. 
कंपनी अधिकारी ने कहा कि अगले तीन साल के दौरान सरकारी स्कूलों में कंपनी सात राज्य सरकारों के साथ दो लाख छात्राओं और महिलाओं को प्रशिक्षित करने के लिये गठबंधन करेगी. इन्हें नई तरह के रोजगार के लिये तैयार किया जायेगा. उन्हें कक्षाओं में अथवा आनलाइन विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित विषय में खोजपरक अध्ययन कराया जायेगा.