Breakup के दर्द को भुलाकर फिर से शुरू कीजिए नई जिंदगी, ये टिप्स आएंगे काम

ह तो सभी जानते हैं कि जिंदगी किसी के लिए नहीं रुकती है. बस कभी-कभी हालात हमारे बस में नहीं होते हैं और जिंदगी कुछ पलों के लिए थम जाती है. कुछ ऐसा ही होता है ब्रेकअप (Breakup) के बाद. जानिए ब्रेकअप के बाद कैसे समेटें अपनी जिंदगी.

Breakup के दर्द को भुलाकर फिर से शुरू कीजिए नई जिंदगी, ये टिप्स आएंगे काम
ब्रेकअप के बाद भी है जिंदगी

नई दिल्ली: यह तो सभी जानते हैं कि जिंदगी किसी के लिए नहीं रुकती है. बस कभी-कभी हालात हमारे बस में नहीं होते हैं और जिंदगी कुछ पलों के लिए थम जाती है. कुछ ऐसा ही होता है ब्रेकअप (Breakup) के बाद. किसी रिश्ते में होना जितना खूबसूरत एहसास होता है, उससे निकलना उतना ही दुखदायी. आज-कल की लाइफस्टाइल (Lifestyle) में रिलेशनशिप (Relationship) और ब्रेकअप जैसे शब्द बेहद आम हो गए हैं. 

ब्रेकअप के बाद जिंदगी
रिश्ता दो लोगों के दिल और आत्माओं का मिलन होता है. प्यार में होने के दौरान सब कुछ बहुत खूबसूरत लगता है. किसी के साथ होने का एहसास भी जिंदगी के लिए बहुत मायने रखता है. हालांकि, यही साथ छूट जाने पर दिल टूट जाता है. ब्रेकअप- जी हां, दो प्रेमियों के अलगाव को ब्रेकअप कहा जाता है. व्यस्त दिनचर्या और बदलती जरूरतों के कारण ब्रेकअप की खबरें अब आम हो गई हैं. ब्रेकअप के बाद जिंदगी को फिर से व्यवस्थित करना थोड़ा मुश्किल जरूर होता है, मगर नामुमकिन नहीं. आपको यह ध्यान रखना होगा कि किसी के जाने से आपकी जिंदगी खत्म नहीं हुई है. ब्रेकअप के बाद भी आप बहुत से रिश्तों, जिम्मेदारियों और एहसासों से जुड़े हुए हैं और उनकी खातिर आपको एक बार फिर से खुद को समेटकर उठना होगा. 

यह भी पढ़ें- किसी को मिस कर रहे हैं तो आपकी 'Video Date' को हिट बनाएंगे ये टिप्स

खुद को जिम्मेदार न ठहराएं
ब्रेकअप के बाद अक्सर आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो जाता है. आपके साथ ऐसा हुआ हो या आप आपसी सहमति से अलग हो गए हों पर इस ब्रेकअप के लिए खुद को जिम्मेदार मत ठहराइएगा. अगर आप खुद को जिम्मेदार ठहराते रहेंगे तो इससे उबरना बहुत मुश्किल हो जाएगा. इस बात को समझिएगा कि कुछ लोग जिंदगी में कुछ समय के लिए ही आते हैं. बेशक उनके जाने पर दुख बहुत होता है पर उसके लिए खुद को कोसने से भी कुछ नहीं मिलता है. जिंदगी में जिसे आपका साथ देना होता है, वह हर हालत में देता ही है. इसलिए किसी के जाने के बाद डार्क मोड (Dark Mode) में न जाएं.

रोने से मिलेगी खुशी
इस बात का हमेशा ध्यान रखिए कि रोने से आप कमजोर नहीं हो जाएंगे. ब्रेकअप के बाद आंसू बहा देने से आपका दर्द कुछ कम जरूर हो जाएगा. दर्द एक बार आंसू बनकर बाहर निकल जाए तो वह दिल और दिमाग में नासूर बनकर नहीं रहता है. इसलिए रोने से न तो घबराएं और न ही खुद को रोकें.

दर्द का न ढूंढें सहारा
कुछ लोग ब्रेकअप के तुरंत बाद किसी दूसरे रिश्ते में बंधने की कोशिश करने लगते हैं, जो कि गलत है. इस तरह की रीबाउंड रिलेशनशिप (Rebound Relationship) आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकती हैं. ऐसे रिश्ते आपका दर्द कम करने के बजाय बढ़ा सकते हैं. दरअसल, ब्रेकअप के बाद हम एक बार फिर प्यार, विश्वास और साथ ढूंढ रहे होते हैं, लेकिन उसे किसी दूसरे व्यक्ति में ढूंढना गलत होता है. पहले खुद को समझिए, दर्द से निकलिए और तब किसी का हाथ थामिए.

यह भी पढ़ें- खट्टा-मीठा इश्क: हर Couple के बीच जरूर होनी चाहिए ये लड़ाइयां

लाइफस्टाइल में लाएं बदलाव
ब्रेकअप के बाद अपना रूटीन (Routine) बदलना बहुत जरूरी होता है. अभी तक आप दोनों ने अपनी दिनचर्या को एक-दूसरे के हिसाब से ढाला होगा, लेकिन अब उसे बदलना जरूरी है. इसके लिए आप मेडिटेशन (Meditation) का सहारा लीजिए, एक्सरसाइज करिए, गाने सुनिए, दोस्तों से बातें करिए, कोई नई चीज सीखिए या कहीं घूमने चले जाइए. लाइफस्टाइल में किए गए छोटे-बड़े बदलाव आपको ब्रेकअप के दर्द से बाहर निकालने में मदद कर सकते हैं. अकेलेपन में गोते लगाने से बेहतर रहेगा कि आप अपना सोशल सर्कल बढ़ा लें और खुद को उसमें व्यस्त रखें.

काउंसलिंग से क्या घबराना
ब्रेकअप का असर हर किसी पर अलग तरह से होता है. कोई इस दर्द से तुरंत उबर जाता है तो किसी को काफी समय लग जाता है. ब्रेकअप के बाद अगर आप मानसिक तौर पर परेशान हो रहे हों तो काउंसलिंग (Counceling) का सहारा लेने से न घबराएं. जरा सी प्रोफेशनल सलाह से आप अपनी जिंदगी को फिर से व्यवस्थित कर सकते हैं. इससे आपको अपनी बातें और दर्द बांटने में मदद मिलेगी.

एक खूबसूरत जिंदगी ब्रेकअप के बाद भी बांहें फैलाए हुए आपका इंतजार कर रही है. उसे गले लगाइए और खुश रहिए.

लाइफस्टाइल और रिश्तों से जुड़े ऐसे ही लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें