close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

23 मई को मोदी दिवस के रूप में मनाया जाए: योगगुरु रामदेव

भाजपा के 23 मई को प्रचंड बहुमत के साथ केंद्र की सत्ता में लौटने को ‘ऐतिहासिक’ दिवस करार देते हुए योगगुरु रामदेव ने सोमवार को कहा कि इसे ‘मोदी दिवस या जन कल्याण दिवस’ के रूप में मनाया जाना चाहिए.

23 मई को मोदी दिवस के रूप में मनाया जाए: योगगुरु रामदेव

हरिद्वार: भाजपा के 23 मई को प्रचंड बहुमत के साथ केंद्र की सत्ता में लौटने को ‘ऐतिहासिक’ दिवस करार देते हुए योगगुरु रामदेव ने सोमवार को कहा कि इसे ‘मोदी दिवस या जन कल्याण दिवस’ के रूप में मनाया जाना चाहिए. भाजपा ने इस बार 303 सीटें जीतीं जबकि कांग्रेस महज 52 सीटों पर सिमट गयी. इस बार 542 लोकसभा सीटों पर चुनाव हुआ था. चुनाव परिणामों की घोषणा 23 मई को हुई.

देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून की जरूरत: बाबा रामदेव

रामदेव ने यहां पंतजलि के दूध और डेयरी उत्पादों को लांच करने के कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘ 23 मई ऐतिहासिक दिन है. इसे ‘मोदी दिवस या जन कल्याण दिवस’ के रूप में मनाया जाना चाहिए.’’ नरेंद्र मोदी, जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा गांधी के बाद तीसरे ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने लोकसभा में पूर्ण बहुमत के साथ दूसरे कार्यकाल के लिए सत्ता में वापसी की है.

जनसंख्या विस्फोट पर रामदेव की टिप्पणी को लेकर बरसे असदुद्दीन ओवैसी

पंतजलि आयुर्वेद लिमिटेड के नये उत्पादों की चर्चा करते हुए योगगुरु ने कहा कि पंतजलि के टोंड दूध, मक्खन, पनीर, लस्सी और छाछ गाय के शुद्ध दूध से बने हैं और उसमें कोई रसायन नहीं मिलाया गया है. उन्होंने कहा, ‘‘ ये उत्पाद मदर डेयरी और अमूल के उत्पादों की तुलना में सस्ते और बेहतर हैं.’’ हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि पंतजलि के उत्पाद प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के उत्पादों की तुलना में कैसे बेहतर हैं.

(इनपुट: एजेंसी)