अरविंद केजरीवाल बोले, 'बतौर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मोदी से हजार गुना ‘बेहतर’ थे'

केजरीवाल ने कहा कि यह मनमोहन सिंह ही थे जिन्होंने 2008 की वैश्विक आर्थिक मंदी से भारत को बचा लिया था। 

अरविंद केजरीवाल बोले, 'बतौर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह मोदी से हजार गुना ‘बेहतर’ थे'

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में मनमोहन सिंह, नरेंद्र मोदी से ‘हजार गुना’ बेहतर थे। 2011 में यूपीए सरकार के खिलाफ हुए भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के प्रमुख नेता रहे  केजरीवाल ने कहा कि यह मनमोहन सिंह ही थे जिन्होंने 2008 की वैश्विक आर्थिक मंदी से भारत को बचा लिया था। 

केजरीवाल ने कहा, ‘मनमोहन सिंह एक अच्छे इंसान हैं। वह मोदी से हजार गुना बेहतर थे। वह एक पढ़े-लिखे व्यक्ति हैं, प्रसिद्ध अर्थशास्त्री हैं। वे अर्थव्यवस्था को समझते हैं।’

केजरीवाल ने कहा कि वास्तव में 2008 की वैश्विक आर्थिक मंदी में भारत शायद एकमात्र देश था जो इससे प्रभावित नहीं था क्योंकि मनमोहन सिंह ने कई कदम उठाए और देश को बचाया। यह पूछे जाने पर कि कई कांग्रेस नेताओं का मानना है कि भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन से यूपीए को राजनीतिक रूप से नुकसान हुआ और इससे मोदी के सत्ता में आने का रास्ता प्रशस्त हुआ, केजरीवाल ने कहा कि अगर लोकपाल की मांग पूरी हो जाती तो आप का जन्म ही नहीं होता।

'हमारा आंदोलन लोकपाल विधेयक के लिए था'
उन्होंने कहा, ‘हमारा आंदोलन यूपीए सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ था। हमारा आंदोलन लोकपाल विधेयक के लिए था। कांग्रेस विधेयक क्यों नहीं लायी। अगर वे ऐसा करते, तो हमारा आंदोलन जारी नहीं रहता और कांग्रेस को बहुत बड़ा श्रेय मिलता। अगर वैसी स्थिति होती तो आप का गठन भी नहीं हुआ होता।’

केजरीवाल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रमुख क्षेत्रों में ‘पूरी तरह से नाकाम’ रहे और इसीलिए वह ‘नकली राष्ट्रवाद’ का सहारा ले रहे हैं। उन्होंने कहा,‘मोदी जी का राष्ट्रवाद नकली है। यह देश के लिए खतरनाक है।’