दिग्विजय सिंह ने कहा, 'हिंदुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में है ही नहीं'

दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘आप लोग हिन्दुत्व शब्द का उपयोग क्यों करते हैं? हिन्दुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में है ही नहीं.’

दिग्विजय सिंह ने कहा, 'हिंदुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में है ही नहीं'
(फोटो साभार - @DigvijayaSinghOfficial)

भोपाल: कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने शनिवार को कहा कि ‘हिन्दुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में ही नहीं है.’ दिग्विजय भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी हैं और उनके खिलाफ बीजेपी ने मालेगांव बम धमाकों की आरोपी एवं कट्टर हिन्दूवादी नेता साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को खड़ा किया है.

हिन्दुत्व एवं हिंदू आतंकवाद के बारे में पूछे गए सवालों के जवाब में दिग्विजय ने कहा, ‘आप लोग हिन्दुत्व शब्द का उपयोग क्यों करते हैं? हिन्दुत्व शब्द मेरी डिक्शनरी में है ही नहीं.’

मुंबई आतंकी हमलों में शहीद हुए एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे के खिलाफ विवादित बयान देने पर साध्वी प्रज्ञा को चुनाव आयोग द्वारा कारण बताओ नोटिस दिए जाने पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा, ‘ ये बिन्दु हैं प्रज्ञा जी एवं चुनाव आयोग के बीच के. मैं कहां बीच में आ गया.’

दिग्विजय सिंह द्वारा विभिन्न विवादास्पद प्रश्नों का उत्तर टालने पर जब कुछ पत्रकारों ने मजाकिया अंदाज में कहा कि आप ‘साइलेंट मोड’ में हैं, तो इस पर उन्होंने कहा, ‘खबर बनाने का ठेका मैंने लिया है क्या?’ इस पर मीडिया ने खूब ठहाके लगाए.

प्रज्ञा ठाकुर ने शनिवार को भोपाल में कहा था कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ वर्ष 1984 में दिल्ली में हुए सिख दंगों में शामिल थे. इस बारे में पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा, ‘इस दंगे का कमलनाथ पर कोई मुकदमा भी नहीं है, कोई प्राथमिकी नहीं है. कोई गवाह नहीं. कोई सबूत नहीं. और 36 साल हो गये और अब 36 साल बाद कौन सा दंगा, किसने किया.’

उन्होंने कहा, ‘सिख दंगों का हमें दुख है और इसमें जो दोषी लोग हैं, उन पर कार्रवाई हुई है. लेकिन जहां तक कमलनाथ जी का सवाल है, उनका नाम इसमें घसीटना तो अनुचित है.’