सीवान लोकसभा सीट : एक निर्दलीय प्रत्याशी ने 2009 के चुनाव में शाहबुद्दीन को दी थी मात

2009 के लोकसभा चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी ओम प्रकाश यादव ने शहाबुद्दीन को मात दी. 2014 के चुनाव में बीजेपी ने उन्हें ही अपना उम्मीदवार बनाया और वह चुनाव जीतने में सफल रहे.

सीवान लोकसभा सीट : एक निर्दलीय प्रत्याशी ने 2009 के चुनाव में शाहबुद्दीन को दी थी मात
2014 में आरजेडी ने शहाबुद्दीन की पत्नी हीना साहब को चुनावी में मैदान में उतारा था. (फाइल फोटो)

सीवान : एक दौर था जब बिहार के सीवान लोकसभा सीट पर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के बाहुबली नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन का दबदबा रहता था. 1996 से 2004 तक वह लगातार चुनाव जीतते आए. फिलहाल वह दिल्ली के तिहाड़ जेल में सजा काट रहे हैं. 1996 में पहली बार वह जनता दल की टिकट पर सांसद चुने गए थे. इसके बाद 1998, 1999 और 2004 के आम चुनावों में बतौर आरजेडी सांसद दिल्ली तक पहुंचे.

2009 के लोकसभा चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी ओम प्रकाश यादव ने शहाबुद्दीन को मात दी. 2014 के चुनाव में बीजेपी ने उन्हें ही अपना उम्मीदवार बनाया और वह चुनाव जीतने में सफल रहे.

1563860 मतदाताओं वाले सीवान लोकसभा सीट पर 2014 के चुनाव में बीजेपी प्रत्याशी ओम प्रकाश यादव 372670 मतों के साथ चुनाव जीतने में सफल रहे. वहीं, आरजेडी ने शहाबुद्दीन की पत्नी हीना साहब को चुनावी में मैदान में उतारा था, जिन्हें 258823 मतदाताओं का समर्थन प्राप्त हुआ. वहीं, जेडीयू के उम्मीदवार मनोज कुमार सिंह को महज 79239 मतों से संतोष करना पड़ा. इस चुनाव में कुल 884021 वोट डाले गए थे.

सीवान लोकसभा क्षेत्र में कुल छह विधानसभा क्षेत्र आते हैं. इनमें सीवान, जीरादेई, दरौली, रघुनाथपुर, दरौंदा और बरहिया शामिल है. 1957 में हुए पहले आम चुनाव में कांग्रेस के झूलन सिंह ने चुनाव जीता था. इसके बबाद 1962 से 1971 तक हुए तीन आम चुनावों में कांग्रेस उम्मीदवार मोहम्मद युसुफ सांसद बने. इमरजेंसी के बाद 1977 में हुआ आम चुनाव में भारतीय लोक दल के मृत्युंजय प्रसाद वर्मा चुनाव जीते. 1989 के लोकसभा चुनाव में पहली बार यहां बीजेपी का खाता खुला था. 1991 में जनता दल की टिकट पर वृषिण पटेल चुवा जीते थे.