PM मोदी जानते थे, जनता देगी साथ, तभी कहा था- 'चुनाव बाद आपसे वर्षों तक करता रहूंगा मन की बात'

PM मोदी जानते थे, जनता देगी साथ, तभी कहा था- 'चुनाव बाद आपसे वर्षों तक करता रहूंगा मन की बात'

लोकसभा चुनाव 2019 की आचार संहिता लगने से पहले 24 फरवरी को मन की बात रेडियो कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कही थी यह बात. आचार संहिता के कारण 24 फरवरी के बाद नहीं हुआ प्रसारण.

  • 3 अक्‍टूबर, 2014 को पीएम मोदी ने की थी पहली बार 'मन की बात'
  • महीने के अंतिम रविवार को होता है रेडियो कार्यक्रम मन की कार्यक्रम
  • 26 मई को है अंतिम रविवार. 2014 में 26 मई को ही PM ने ली थी शपथ

Trending Photos

PM मोदी जानते थे, जनता देगी साथ, तभी कहा था- 'चुनाव बाद आपसे वर्षों तक करता रहूंगा मन की बात'

नई दिल्‍ली : लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) को बंपर जीत की ओर अग्रसर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में लड़े गए लोकसभा चुनाव 2019 में ताजा रुझान/नतीजों में एनडीए 354, यूपीए 89 तो अन्‍य 99 सीटों पर आगे हैं. बीजेपी अकेले दम पर 303 सीटों पर आगे है. साथ ही बीजेपी ने अकेले 292 सीटों पर जीत हासिल कर ली है. पीएम मोदी का यह नेतृत्‍व बीजेपी को इस बार ऐतिहासिक जीत दिला रहा है. पीएम मोदी को हमेशा से ही लोकसभा चुनाव 2019 में बंपर जीत का अटूट विश्‍वास रहा. इसके संकेत चुनावी रैलियों में उनके भाषणों और रेडियो कार्यक्रम मन की बात के चुनाव से पहले के प्रसारण में साफ दिखते हैं.


पीएम मोदी ने 3 अक्‍टूबर, 2014 को पहली बार किया था मन की बात रेडियो कार्यक्रम. फाइल फोटो

24 फरवरी, 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम मन की बात का 53वां संस्‍करण प्रसारित हुआ था. लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha elections 2019) की आचार संहिता लगने से पहले प्रसारित हुए इस रेडियो कार्यक्रम में पीएम मोदी ने अपने 'मन की बात' बता दी थी. उन्‍हें अपनी बंपर जीत का भरोसा था इसीलिए अपने संबोधन में पीएम मोदी ने इशारे-इशारे में लोकसभा चुनाव 2019 में जीत के बाद फिर प्रधानमंत्री बनने की बात कही थी. 

 

पीएम मोदी ने कहा था, 'चुनाव लोकतंत्र का सबसे बड़ा उत्सव होता है. अगले दो महीने, हम सभी चुनाव में व्यस्त होंगे. मैं खुद भी इस चुनाव में एक प्रत्याशी रहूंगा. स्वस्थ लोकतांत्रिक परंपरा का सम्मान करते हुए अगली मन की बात मई महीने के आखिरी रविवार को होगी. मैं लोकसभा चुनाव के बाद एक नए विश्वास के साथ आपके आशीर्वाद की ताकत के साथ फिर एक बार मन की बात के माध्यम से हमारी बातचीत के सिलसिले की शुरुआत करूंगा और वर्षों तक आपसे मन की बात करता रहूंगा.'

अब 23 मई को लोकसभा चुनाव परिणाम 2019 (lok sabha election results 2019) के लिए मतगणना हुई. चूंकि पीएम मोदी ने कहा था कि अब मई के आखिरी रविवार को मन की बात होगी. यह रविवार 26 मई को पड़ रहा है. लेकिन अभी यह जानकारी नहीं है कि पीएम मोदी 26 मई को मन की बात करेंगे या नहीं. लेकिन 26 मई की तारीख पीएम मोदी के जीवन से जुड़ी हुई है और अपने आप में बड़ा महत्‍व रखती है. लोकसभा चुनाव 2014 में बीजेपी की जीत के बाद नरेंद्र मोदी ने 26 मई को ही प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी. 2014 में भी पीएम मोदी को जनता का भरपूर समर्थन मिला था और कांग्रेस की हालात पस्‍त हो गई थी.

नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने के बाद 3 अक्‍टूबर, 2014 को देश की जनता से पहली बार मन की बात की थी. इसी दिन रेडियो कार्यक्रम मन की बात का पहला संस्‍करण प्रसारित किया गया था. इसके बाद अब तक पीएम मोदी हर महीने के अंतिम रविवार को देश की जनता से मन की बात करते रहे हैं. अब तक इस रेडियो कार्यक्रम के 53 संस्‍करण प्रसारित हो चुके हैं.

Trending news