close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

CM योगी के मंत्री के बागी तेवर, सहयोगी दल ने किया 39 प्रत्याशियों का ऐलान

ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि साल 2014 में हमने भारतीय जनता पार्टी के साथ चुनाव लड़ा, लेकिन इस साल बीजेपी सीटों के ऐलान के लिए हमको टलाती रही. उन्होंने कहा कि बीजेपी के इस रवैये से कार्यकर्ताओं में रोष है. इसलिए हम यूपी की 39 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे.  

CM योगी के मंत्री के बागी तेवर, सहयोगी दल ने किया 39 प्रत्याशियों का ऐलान
साल 2014 में सुभासपा और अपना दल के सहारे ही बीजेपी उत्तर प्रदेश में 73 सीटों के रिकार्ड आंकड़े को छू पाई थी.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर ने लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Election 2019) के दंगल में अकेले चुनाव लड़ेगी. मंगलवार (16 अप्रैल) को अपने 39 प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर दिया है. पहले चरण का चुनाव संपन्न होने के बाद बीजेपी के सहयोगी रहे राजभर ने ऐलान किया कि वह उत्तर प्रदेश 39 सीटों पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी अकेले चुनाव लड़ेगी. 

39 प्रत्याशियों का किया ऐलान
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के 39 प्रत्याशियों के नाम की घोषणा के बाद पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि साल 2014 में हमने भारतीय जनता पार्टी के साथ चुनाव लड़ा, लेकिन इस साल बीजेपी सीटों के ऐलान के लिए हमको टलाती रही. उन्होंने कहा कि बीजेपी के इस रवैये से कार्यकर्ताओं में रोष है. इसलिए हम यूपी की 39 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. 

Suhaldev bhartiya samaj party has announced the names of 39 candidates of the UP lok sabha seats

 

साल 2014 में सुभासपा का था सहारा 
पूर्वांचल में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का अच्छी पकड़ है. साल 2014 में सुभासपा और अपना दल के सहारे ही बीजेपी उत्तर प्रदेश में 73 सीटों के रिकार्ड आंकड़े को छू पाई थी. राजभर बिरादरी का पूर्वांचल में बड़ा वोट बैंक है.

Suhaldev bhartiya samaj party has announced the names of 39 candidates of the UP lok sabha seats

किसी पार्टी ने नहीं दिया राजभर समाज तो टिकट
पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी, कांग्रेस हो या सपा-बसपा किसी भी पार्टी मे राजभर समाज को टिकट नहीं दिया. उन्होंने कहा कि हमारी आज भी इच्छा है कि हम बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ें. उन्होंने कहा कि विधानसभा में बीजेपी के साथ समझौता रहेगा, लेकिन इस बार लोकसभा में नहीं रहेगा. 

 

हराने नहीं जीतने के लिए लड़ रहे हैं: राजभर
अपने संहोधन में उन्होंने कहा कि हम किसी को हराने के लिए नहीं लड़ रहे हैं, हम जीतने के लिए लड़ रहे हैं. बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हमें अकेले विधायक नहीं बनाया, हमने भी उनके कई लोगों को विधायक बनाया हैं. उन्होंने कहा कि घोसी सीट पर बीजेपी को कोई प्रत्याशी नहीं मिल रहा, अगर वह सच में हमें अपना सहयोगी संगठन समझते, तो हमें इस सीट से उतारते.