AAP में कांग्रेस के साथ गठबंधन के विरोध में उठी आवाज, जरनैल सिंह ने जताई नाखुशी

पूर्व विधायक जरनैल सिंह ने कहा कि उन्होंने केजरीवाल से कहा है कि अगर कांग्रेस से गठबंधन होता है तो ना तो वह इसका समर्थन करेंगे और ना ही प्रचार में हिस्सा लेंगे.

AAP में कांग्रेस के साथ गठबंधन के विरोध में उठी आवाज, जरनैल सिंह ने जताई नाखुशी
आप नेता और पूर्व विधायक जरनैल सिंह

नई दिल्ली: दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर असमंजस के बीच सिख विरोधी दंगों को लेकर भी संभावित गठबंधन के मुद्दे पर आप में विरोध के स्वर उभरने लगे हैं. 

पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक जरनैल सिंह ने आप संयोजक अरविंद केजरीवाल को कांग्रेस से गठबंधन की कवायद पर अपनी नाराजगी जता दी है. राजौरी गार्डन से विधायक रहे जरनैल सिंह ने केजरीवाल से कहा है कि वह इस गठबंधन का समर्थन करने में असमर्थ हैं. 

'मैं गठबंधन का समर्थन नहीं करुंगा'
उन्होंने कहा, ‘सिख दंगा मामले के आरोपी जगदीश टाइटलर जब तक कांग्रेस में मौजूद हैं और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सिख दंगों के लिए माफी नहीं मांगते, तब तक मैं इस गठबंधन का समर्थन नहीं करुंगा.’

जरनैल सिंह ने कहा कि उन्होंने केजरीवाल से कहा है कि अगर कांग्रेस से गठबंधन होता है तो ना तो वह इसका समर्थन करेंगे और ना ही प्रचार में हिस्सा लेंगे.

उल्लेखनीय है कि अप्रैल 2009 में दंगा मामलों के आरोपी सज्जन कुमार को कांग्रेस द्वारा लोकसभा चुनाव का उम्मीदवार बनाए जाने पर पूर्व पत्रकार जरनैल सिंह ने तत्कालीन गृह मंत्री पी चिदंबरम के सामने अपना जूता उछाल कर विरोध दर्ज कराया था. 

इसके बाद उन्होंने आप में शामिल होकर राजौरी रार्डन से विधानसभा चुनाव जीता. वह विधायक पद से इस्तीफा देकर पंजाब विधानसभा चुनाव में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को आप उम्मीदवार के रूप में चुनौती दी थी. हालांकि वह चुनाव हार गये थे. 

अवतार सिंह ने किया गठबंधन का समर्थन
इस बीच कालका जी से आप के विधायक अवतार सिंह ने इस मामले में पार्टी हित को सर्वोपरि बताते हुए गठबंधन का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि ‘मोदी-शाह’ की जोड़ी के खतरे से देश को बचाना उनके लिये प्राथमिक उद्देश्य है. कांग्रेस से अगर गठबंधन होता है वह इसका समर्थन करेंगे.