गर्मी में खराब न हो जाए कार का रंग, मालिक ने पोत दिया गाय का गोबर

अहमदाबाद के एक कार मालिक ने गर्मियों में अपनी कार को ठंडा रखने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाया है. 

गर्मी में खराब न हो जाए कार का रंग, मालिक ने पोत दिया गाय का गोबर
फोटो साभारः फेसबुक

नई दिल्ली: देश के कई हि‍स्‍सों में तापमान 45 डि‍ग्री के पार जाना शुरू हो गया है. ऐसे में सभी खुद का ध्यान रखने के साथ-साथ अपनी कार को भी सुरक्षित रखने के लिए कई तरीका अपना रहे हैं. तेज धूप में कारों पर बुरा असर पड़ता है. अगर कार को तेज गर्मी से नहीं बचाया तो कार मैंटेनेंस के दौरान कई दि‍क्‍कतों का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे में अहमदाबाद के एक कार मालिक ने गर्मियों में अपनी कार को ठंडा रखने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाया है. कार को गर्मी न लगे इसलिए मालिक ने गोबर का लेप पूरे कार में लगा दिया है. इसके बाद तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई.

'गोबर का सबसे अच्छा उपयोग'
फेसबुक पर एक यूजर ने कार की तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है कि, गोबर का सबसे अच्छा उपयोग देख रहा हूं. यूजर ने आगे लिखा कि, 45 डिग्री के तापमान से बचने और कार को गर्मी से बचाने के लिए गोबर का सबसे अच्छा उपयोग श्रीमती सेजल शाह ने अपनी कार पर गोबर का लेप कर दिया है. 

फोटो वायरल हो गई
जिसके बाद यह यह फोटो वायरल हो गई. इस तस्वीर के वायरल होने के बाद लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है. कुछ लोग जानना चाहते हैं कि, कार पर गोबर का लेप लगाने से क्या फायदा हो रहा है. कुछ लोग पूछ रहे हैं कि गोबर की गंध के बाद लोग कार में कैसे बैठेंगे. 

गोबर का उपयोग मच्छर से बचाने वाली क्रीम के रूप में भी किया जाता है 
गोबर का उपयोग अधिकतर ग्रामीण भारतीय मिट्टी की दीवारों या फर्श पर लेप लगाने के लिए करते है. माना जाता है कि गोबर का लेप सूखने के बाद दीवारों की नमी बची रहती है. इसके अलावा प्राकृतिक कीटाणुनाशक और मच्छर से बचाने वाली क्रीम के रूप में भी गोबर का उपयोग माना जाता है. इससे पहले भी कई नेताओं ने गोमूत्र और गोबर के विभिन्न फायदों का दावा किया है. लेकिन गर्मी में कार को बचाने के लिए गोबर का प्रयोग करना लोगों के लिए कौतूहल का विषय बना हुआ है. 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.