close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सेना को टारगेट करने की पाकिस्तान की साजिश का खुलासा, खरीद रहा है तोप के एक लाख गोले

पाकिस्तान ने अपने होवित्ज़र तोपों के लिए इटली से करीब एक लाख गोलों की खरीद की डील कर ली है. ख़ुफ़िया एजेंसीज की रिपोर्ट के मुताबिक इटली ने इन गोलों को पाकिस्तान को जल्द मुहैया कराने का भरोसा दिलाया है.

सेना को टारगेट करने की पाकिस्तान की साजिश का खुलासा, खरीद रहा है तोप के एक लाख गोले
भारत के मुंहतोड़ जवाब से घबराई पाकिस्तान की सेना ने सैनिक संख्या भी बढ़ा दी है. प्रतीकात्मक फोटो :यूएस आर्मी

नई दिल्ली : पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर से सटे लाइन ऑफ़ कंट्रोल के नजदीक तैनात भारतीय सेना की जवाबी करवाई से परेशान पाकिस्तानी सेना अपनी विदेशों से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद खरीदने की तैयारी में है. पाकिस्तान ने अपने होवित्ज़र तोपों के लिए इटली से करीब एक लाख गोलों की खरीद की डील कर ली है. ख़ुफ़िया एजेंसीज की रिपोर्ट के मुताबिक इटली ने इन गोलों को पाकिस्तान को जल्द मुहैया कराने का भरोसा दिलाया है.

पाकिस्तान ने भारत को अमेरिका से मिल रहे M 777 का मुकाबला करने के लिए इटली से 121 नए होवित्ज़र तोपों की खरीद भी की है, जिसमें से आधे से ज्यादा होवित्ज़र तोप पाकिस्तान सेना को मिल चुके हैं जबकि भारत ने जो 145 M177 होवित्ज़र तोप की डील की है, उसमें उसे अब तक महज 2 तोप ही मुहैया हो सके हैं. खुफ़िया एजेंसीज ये पता करने की कोशिश में हैं कि आखिर पाकिस्तानी सेना इटली से एक लाख गोले खरीदने के पीछे आखिर मकसद क्या है?

गिलगित-बाल्तिस्तान को लेकर भारत ने पाक के उप उच्चायुक्त को किया तलब

केंद्रीय सुरक्षा में तैनात एक अधिकारी के मुताबिक हमारी एजेंसीज ये पता करने में लगी हुईं है कि  आखिर पाकिस्तान इटली से करीब एक लाख गोले क्यों खरीद रहा है और वो इसका इस्तेमाल कहाँ करने के प्लानिंग कर रहा है. देखा जाये तो जब भारत सरकार ने अमेरिका से  145 M177 होवित्ज़र तोप खरीदने की हरी झंडी दी तो पाकिस्तान ने इटली से 121 होवित्ज़र तोप खरीद लीं. ऐसे में पाकिस्तान भारत के खिलाफ अपनी तैयारियों में कोई कमी नहीं छोडना चाहता है. भारत के धीमी रक्षा डील के ठीक उलट पाकिस्तान तेजी से अपनी सेना को आधुनिक साजो सामान मुहैय्या करा रहा है. हालाँकि इससे जुड़े जानकार इस बात से भी हैरान हैं कि आखिर पाकिस्तानी सेना चीन के बजाये इटली से क्यों होवित्ज़र तोपे खरीद रही है?

सुरक्षा से जुड़े एक अधिकारी के मुताबिक ऐसा लगता है की चीन के होवित्ज़र तोप पर पाकिस्तान ज्यादा भरोसा नहीं कर रहा या फिर चीनी होवित्ज़र तोपो की कीमत इटली के तोपो के मुकाबले ज्यादा हो सकती है, लेकिन चीन के बजाए इटली से इन तोपों की खरीद करना काफी हैरान कर देने वाला है. पाकिस्तानी सेना जिस तरह से लाइन ऑफ़ कंट्रोल पर लगातार सीमा उल्लंघन कर रही है, उसका जवाब पाकिस्तान को हमारी सेना उसी भाषा में दे रही है. भारतीय सेना की इस जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना को काफी नुकसान हो रहा है. शायद इस वजह से भी वह इटली से भारी मात्रा में गोले खरीद रही है. ताकि वह सेना के बंकर को टारगेट कर सके.

एजेंसियों की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय सेना की जवाबी करवाई से पाकिस्तान बुरी तरह डर गया है. लाइन ऑफ कंट्रोल से लगे अपने पोस्ट पर उसने जवानों की संख्या बढ़ा दी है. पुंछ से सटे कश्मीर के कोटली इलाके में मौजूद 3 पीओके ब्रिगेड को पाकिस्तान ने अलर्ट कर दिया है. साथ ही सामान्य सी पोस्ट जिस पर अमूनन 2-3 जवान होते है उनकी संख्या बढ़ा कर 10 के क़रीब कर दी गयी है.

केंद्रीय सुरक्षा में तैनात एक अधिकारी के मुताबिक, पाकिस्तान को ये डर है कि जिस तरह उसने पिछले दिनों भारतीय सेना पर कई बैट एक्शन किये थे भारतीय सेना उसका बड़ा बदला लेने की तैयारी में लगी है. इसी डर से भी ऐसा लगता है कि वो अपने पोस्ट पर संख्या बढ़ा रहे हैं.
ख़ुफ़िया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान ने 16 जनवरी को भेजे अपने अलर्ट में पीओके में मौजूद सभी यूनिट को हाई अलर्ट पर रखा हुआ है.

सेना के उत्तरी कमान प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने गुरुवार को कहा कि भारतीय सेना पाकिस्तानी सेना से हमेशा एक कदम आगे है. संघर्ष विराम के उल्लंघन और स्नाइपर शॉट का पाकिस्तानी सेना को उसी की भाषा में जवाब दिया जा रहा है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक़ लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा कि पिछले 48 घंटों में हमारी सेना ने पांच पाकिस्तानी सैनिकों को ढेर किया है.

सेना ने बीएसएफ के असिस्टेंट कमांडेंट और  मेजर की शहादत का बदला ले लिया है. पाकिस्तान ने एक जनवरी से ही संघर्ष विराम का उल्लंघन शुरू कर दिया था. 11 जनवरी को राजौरी के पखर्नी सेक्टर में आइईडी धमाके में सेना के मेजर एसजी नायर और एक जवान शहीद हो गए थे. इसके अलावा पाक गोलाबारी में सेना के साथ काम करने वाला एक पोर्टर भी शहीद हुआ था. इसके बाद 15 जनवरी को पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हीरानगर सेक्टर में स्नाइपर शॉट दागा था, जिसमें बीएसएफ के असिस्टेंट कमांडेंट विनय प्रसाद शहीद हो गए थे. सेना लगातार पाकिस्तान की तरफ से हो रहे सीज फायर उल्लघन का मुंहतोड़ जवाब दे रही है.