वृषभ राशि में एक साथ आ रहे हैं चार बड़े ग्रह, इस महासंयोग से बढ़ सकती है परेशानी; जानें बचने के उपाय

ज्योतिषशास्त्र में ग्रहों की चाल का व्यक्ति के जीवन पर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कोई न कोई असर जरूर होता है. ऐसे में जब बहुत सारे ग्रह एक साथ किसी एक राशि में आएं तो उसका भी आम जनजीवन पर असर देखने को मिलता है.

वृषभ राशि में एक साथ आ रहे हैं चार बड़े ग्रह, इस महासंयोग से बढ़ सकती है परेशानी; जानें बचने के उपाय
एक साथ चार ग्रहों का योग

नई दिल्ली: वृषभ राशि में चार ग्रहों का योग बन रहा है यानी इस राशि में एक साथ चार ग्रह कुछ समय के लिए मौजूद रहेंगे. ज्योतिषाचार्यों की मानें तो वृषभ राशि (Four planets in Tauras) में पाप ग्रह राहु (Rahu) पहले से ही विराजमान है और इसके बाद बुध ग्रह (Mercury) 1 मई को और शुक्र ग्रह (Venus) 4 मई को वृषभ राशि में आ गए थे. तो वहीं 12 मई की सुबह चंद्र (Moon) ने भी राशि परिवर्तन करके वृषभ राशि में प्रवेश कर लिया जिससे चंद्र, राहु, बुध और शुक्र की युति से चार ग्रहों का यह महासंयोग बन गया. 

राहु, बुध, शुक्र और सूर्य की युति

वैसे तो 14 मई की शाम 7 बजे के करीब चंद्र तो वृषभ राशि से निकल जाएगा लेकिन 14 मई की ही रात 11.25 बजे ग्रहों के राजा सूर्य देव वृषभ राशि में प्रवेश कर लेंगे (Sun in Tauras) जिससे वृषभ राशि में राहु, बुध, शुक्र और सूर्य की युति से एक बार फिर चार ग्रहों का योग शुरू हो जाएगा जो 27 मई तक जारी रहेगा. इसके बाद 27 मई को जब बुध ग्रह मिथुन राशि में प्रवेश करेगा तब यह चुतर्थ ग्रह योग समाप्त होगा. चार ग्रहों के इस योग का आप पर कैसे असर हो सकता है, इस बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं.

ये भी पढ़ें- मई के महीने में 5 ग्रह बदलेंगे अपनी राशि, आप पर होगा कैसा असर जानें

वृश्चिक राशि वाले रहें सावधान

ज्योतिषाचार्यों की मानें तो चार ग्रहों का यह योग वृश्चिक राशि (Scorpio) वालों के लिए अच्छा नहीं रहेगा क्योंकि राहु, बुध और शुक्र की दृष्टि वृश्चिक राशि पर ही रहेगी. वृषभ, कन्या, तुला और कुंभ राशि वालों को ग्रहों की इस युति से लाभ होगा तो वहीं अन्य सात राशियों को लाभ कम होगा और इस दौरान उन्हें सावधानी बरतने की जरूरत होगी. साथ ही कुछ परेशानियां भी हो सकती हैं (Some problems). हालांकि ज्योतिष के कुछ एक्सपर्ट्स का ये भी मानना है कि चार ग्रहों की युति में शुक्र ग्रह की मौजूदगी की वजह से कोरोना संक्रमण (Coronavirus infection) में कमी आ सकती है और देश में नकारात्मकता का माहौल कम होगा. 

VIDEO

ये भी पढ़ें- अक्षय तृतीया पर जरूर करें इन चीजों का दान, होगा लाभ ही लाभ

ग्रहों के अशुभ प्रभाव से बचने के लिए क्या उपाय करें

महामृत्युंजय मंत्र और दुर्गा सप्तशती का पाठ करें, हनुमान चालीसा का पाठ करें, हं हनुमते नमः, ऊं नमः शिवाय का जाप करें. इस दौरान मां दुर्गा, भगवान शिव और हनुमान जी की पूजा लाभकारी हो सकती है. साथ ही रोजाना सूर्य देव को जल अर्पित करें. गरीबों की मदद करें और अन्न का दान करें. ऐसा करने से ग्रहों के अशुभ प्रभाव से आप बचे रह सकते हैं.

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

धर्म से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

देखें LIVE TV -
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.