उज्जैन: महंगे हुए बाबा महाकाल के दर्शन-पूजन, श्रद्धालुओं की जेब पर पड़ेगा दोगुना भार

महारुद्राभिषेक के लिए अब मंदिर प्रबंध समिति को 15,000 रुपए दान राशि चुकानी होगी. इसके पहले 11,000 रुपए दान देना होता था.

उज्जैन: महंगे हुए बाबा महाकाल के दर्शन-पूजन, श्रद्धालुओं की जेब पर पड़ेगा दोगुना भार
फाइल फोटो

उज्जैन: बाबा महाकाल के दर्शन-पूजन करना अब महंगे हो गए हैं. उज्जैन (Ujjain) के महाकालेश्वर (Mahakaleshwar) मंदिर में पूजा-अभिषेक के लिए लगने वाले दान की राशि में बढ़ोतरी की गई है. महारुद्राभिषेक के लिए अब मंदिर प्रबंध समिति को 15,000 रुपए दान राशि चुकानी होगी. इसके पहले 11,000 रुपए दान देना होता था. मंदिर प्रबंध समिति ने महामृत्युंजय पाठ का दान यथावत 15,000 रुपए ही रखा है. इसी के साथ सामान्य पूजा, शिव महिम्न पाठ, शिव महिम्न स्‍तोत्र एवं रूद्र पाठ आदि में दोगुनी वृद्धि किए जाने का निर्णय लिया गया है. नई राशि 05 दिसम्‍बर से लागू कर दी गई है.

महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति की 10 अक्टूबर को हुई बैठक में सभी तरह के पूजन के लिए लगने वाली राशि बढ़ाने का फैसला लिया गया था. नई दान राशि गुरुवार बीते से लागू कर दी गई है. इसके पहले 24 दिसंबर 2003 को हुई मंदिर समिति की बैठक में दरें बढ़ाई गई थीं. वह दरें बुधवार तक लागू थीं. 

लाइव टीवी देखें

प्रबंध समिति के प्रशासक एसएस रावत ने बताया कि मंदिर में पूजन के लिए समिति द्वारा लिए जाने वाले दान में 16 साल बाद बढ़ोतरी की गई है. समिति ने मंदिर की बढ़ती व्यवस्था और विकास को ध्यान में रख कर यह निर्णय लिया है. इससे मंदिर के विकास में श्रद्धालुओं का सहयोग बढ़ेगा. श्रद्धालुओं के लिए नई सुविधाएं जुटाई जा सकेंगी. 

उन्होंने कहा कि अब दर्शनार्थियों को महारुद्राभिषेक के लिए मंदिर प्रबंध समिति को 15,000 रुपए दान राशि चुकानी होगी. इसके पहले 11,000 रुपए दान देना होता था. मंदिर प्रबंध समिति ने महामृत्युंजय पाठ का दान यथावत 15,000 रुपए ही रखा है. इसी के साथ सामान्य पूजा, शिव महिम्न पाठ, शिव महिम्न स्‍तोत्र एवं रूद्र पाठ आदि में दोगुनी वृद्धि किए जाने का निर्णय लिया गया है.