close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हसी से अपनी तुलना पर बोले कैरी, कहा- ‘मुझमें उनकी आधी प्रतिभा भी हुई तो होगी खुशी’

एशेज के लिए ऑस्ट्रेलिया टीम के मेंटॉर स्टीव वॉ ने एलेक्स कैरी की तुलना माइकल हसी के साथ की थी. कैरी इस तुलना को सही नहीं मानते.

हसी से अपनी तुलना पर बोले कैरी, कहा- ‘मुझमें उनकी आधी प्रतिभा भी हुई तो होगी खुशी’
(फोटो :IANS)

मेलबर्न: विश्व कप के खत्म होने के बाद अब एशेज की तैयारियां जोरों पर हैं. ऑस्ट्रेलिया को एक अगस्त से इंग्लैंड दौरे पर एशेज सीरीज खेलनी है. स्टीव वॉ एशेज सीरीज के लिए टीम के मेंटर हैं. हाल ही में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विकेटकीपर बल्लेबाज एलेक्स कैरी (Alex Carry) की तुलना ऑस्ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज माइकल हसी से की थी. इस पर कैरी ने कहा है कि माइकल हसी के साथ उनकी तुलना करना सही नहीं है. उन्होंने कहा कि उनकी प्रतिभा माइकल के प्रतिभा के आधे भी नहीं है. 

एशेज के लिए प्रमुख खिलाड़ी नहीं हैं एलेक्स
कैरी रिजर्व विकेटकीपर के रूप में इंग्लैंड दौरे पर जाएंगे क्योंकि टीम के कप्तान टिम पैन पहले ही विकेटकीपर की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के लिए अब तक 29 वनडे मैच खेलने वाले कैरी ने विश्व कप में नौ पारियों में 62.50 के औसत से 375 रन बनाए थे. बढ़िया प्रदर्शन के बावजूद कैरी ऑस्ट्रेलियाई टीम के प्रमुख खिलाड़ियों में शामिल नहीं हैं. उन्होंने कहा, "विश्व कप के दौरान अलग अलग परिस्थितियों ने मुझे बहुत कुछ सिखाया. वॉर्नर और स्मिथ की टीम में वापसी हुई और मैच के दौरान इन अनुभवी खिलाड़ियों के साथ बल्लेबाजी करके बहुत कुछ सीखने को मिलता है."

कैरी ने कहा, "अगर मेरी प्रतिभा उनके (हसी) आधे के बराबर हुई तो मुझे खुशी होगी. हसी शानदार खिलाड़ी थे. स्टीव वॉ हमारी टीम के साथ जुड़े हैं जो बहुत अच्छा है. मुझे लगता है कि उन्होंने एक खिलाड़ी के रूप में करीब नौ बार ऐशेज सीरीज जीतने में सफलता पाई है. हम बहुत भाग्यशाली है कि उनके जैसा दिग्गज खिलाड़ी हमारे साथ है जिनके पास ज्ञान और अनुभव की कोई कमी नहीं है."

Steve Waugh on Carry

कैरी ने कहा, "नंबर सात पर बल्लेबाजी करते हुए आप मानते हैं कि आखिरी दस ओवर में बल्लेबाजी करने का मौका मिलेगा. अगर ऐसा नहीं हुआ तो आप क्रीज पर डटकर खेलने और स्कोर बोर्ड को आगे बढ़ाने की कोशिश करते हैं." विकेटकीपर ने कहा, "कभी कभी ऐसा लगता था कि मैं अच्छी क्रिकेट खेल रहा हूं, कुछ टेस्ट क्रिकेट की तरह. ऐसी स्थिति में आप दबाव को सोखते हैं और पारी को संवारने की कोशिश करते हैं. ऐसे मुश्किल हालात से उबरने में कामयाबी पाने के बाद अच्छा लगा."
(इनपुट आईएएनएस)