close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

Ashes 2019: स्मिथ का दोहरा शतक; सचिन भी हुए मुरीद, कहा- असाधारण वापसी

Ashes Series: स्टीवन स्मिथ ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट में दोहरा शतक बनाया. यह बैन के बाद वापसी करते हुए उनका तीसरा टेस्ट शतक भी है. 

Ashes 2019: स्मिथ का दोहरा शतक; सचिन भी हुए मुरीद, कहा- असाधारण वापसी
स्टीवन स्मिथ ने टेस्ट क्रिकेट में 26 शतक जमा दिए हैं. उन्होंने इसके साथ ही विराट कोहली (25) को पीछे छोड़ दिया है. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया के स्टीवन स्मिथ (Steven Smith) बॉल टैम्परिंग मामले में बैन झेलने के बाद और खतरनाक हो गए हैं. उनके रौद्र रूप का सामना फिलहाल इंग्लैंड कर रहा है. स्मिथ ने इंग्लैंड के खिलाफ एशेज सीरीज (Ashes Series) के चौथे टेस्ट मैच में दोहरा शतक ठोका. उनकी इस शानदार पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने 8 विकेट पर 497 रन बनाकर पारी घोषित कर दी. मैच के दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड (England) ने एक विकेट पर 23 रन बना लिए थे. 

30 साल के स्टीव स्मिथ (Steve Smith) पर 2018 में बॉल टैम्परिंग मामले में एक साल का बैन लगा था. उन्होंने बैन हटने के बाद टेस्ट क्रिकेट में पिछले महीने ही वापसी की है. ऑस्ट्रेलिया का यह बल्लेबाज वापसी के बाद अभी तीसरा टेस्ट मैच ही खेल रहा है. उन्होंने इन तीन मैचों में ही तीन शतक ठोक दिए हैं. स्मिथ ने एशेज सीरीज के पहले टेस्ट में 144 और 142 रन की पारियां खेली थीं. उन्होंने दूसरे टेस्ट में 92 रन बनाए. तीसरा टेस्ट चोट के कारण नहीं खेल पाए और चौथे टेस्ट में 211 रन ठोक दिए. 

यह भी पढ़ें: 37 साल की सेरेना 10वीं बार US Open के फाइनल में, 24वां ग्रैंडस्लैमबस एक जीत दूर

स्टीव स्मिथ के दोहरे शतक के बाद सचिन तेंदुलकर समेत दुनियाभर के दिग्गजों ने उनकी तारीफ की. सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने ट्वीट किया, ‘कॉम्लीकेटेड टेक्नीक, लेकिन सुलझा हुआ दिमाग स्टीवन स्मिथ को दूसरों से अलग बनाता है. असाधारण वापसी.’

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने स्मिथ के दोहरे शतक के बाद लिखा, ‘‘अब कुछ और नहीं. बस स्मिथ के लिए तारीफ निकलती है. हम एक महान बल्लेबाज को देख रहे हैं.’

 

माइकल वॉन ने एक और ट्वीट में लिखा, ‘देखकर खुशी हुई. किसी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के लिए यह कहना अच्छा नहीं लगता, लेकिन इतना अनुशासन, एकाग्रता, स्किल्स और हैंड-आई कोऑर्डिनेशन वाले खिलाड़ी की आप सिर्फ प्रशंसा ही कर सकते हैं.’ 

ऑस्ट्रेलिया के ब्रैड हॉज ने लिखा, ‘स्मिथ ने सैंडपेपर को हाथ भी नहीं लगाया था. फिर भी उन्होंने टीम लीडर के नाते दूसरों की बेवकूफियों की जिम्मेदारी भी ली. बदनामी के बाद वापसी करने के लिए साहस और मानसिक मजबूती चाहिए.’