close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ASHES: ओवल टेस्ट के नतीजे के बाद दोनों टीमों ने मनाया जश्न, टीम इंडिया भी खुश

ASHES:  इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच आखिरी टेस्ट में इंग्लैंड की बावजूद दोनों ही टीमों ने जश्न मनाया.

ASHES: ओवल टेस्ट के नतीजे के बाद दोनों टीमों ने मनाया जश्न, टीम इंडिया भी खुश
सीरीज में बेन स्टोक्स और स्टीव स्मिथ में शानदार प्रदर्शन किया. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: खेलों में ज्यादातर यही होता है कि दो टीमों के बीच मुकाबला हो और एक टीम जीते तो दूसरी टीम की हार होती है. दर्शकों और फैंस में भी यही होता है हर मैच के बाद एक खेमा जश्न मनाता दिखता है तो दूसरा खेमा गम में डूबा दिखाई देता है. लेकिन बहुत ही कम ऐसा होता है कि मैच का नतीजा भी निकले और दोनों ही टीमें जश्न मनाएं. और तो और इन दो टीमों के अलावा एक तीसरी टीम के लिए भी खुशी की ही बात रही वह भी टीम इंडिया के लिए. हम बात कर रहे हैं एशेज सीरीज  (Ashes Series)के आखिरी टेस्ट की जिसके खत्म होने के बाद किसी के पास दुखी होने का कारण नहीं था. 

क्या रहा नतीजा
इंग्लैंड ने सीरीज के पांचवे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 135 रनों से हरा दिया. इंग्लैंड ने पहली पारी में 294 रन बनाए थे जबकि उसने ऑस्ट्रेलिया को 225 रन पर ऑल आउट करके 69 रनों की बढ़त हासिल कर ली थी. इसके बाद इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में 329 रन का स्कोर बनाया और ऑस्ट्रेलिया के सामने मैच जीतने के लिए 399 रनों का विशाल लक्ष्य रखा. इसके लक्ष्य के जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम 77 ओवर में 263 रन पर ऑल आउट हो गई.  इस जीत के बाद इंग्लैंड की टीम पांच मैचों की एशेज सीरीज 2-2 से ड्रॉ कराने में सफल रही.

यह भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया के विश्व कप हीरो वार्नर एशेज में रहे फ्लॉप, 61 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा

इंग्लैंड क्यों थी खुश
इंग्लैंड के लिए इस मैच में जीतना प्रतिष्ठा का प्रश्न था. अपने ही घर में 2-1 से पिछड़ने के बाद टीम सम्मान की लड़ाई लड़ रही थी. एशेज ट्रॉफी तो वह वापस नहीं ला सकती थी क्योंकि सीरीज बराबर करने के बाद भी ट्राफी ऑस्ट्रेलिया के पास रहनी थी क्योंकि पिछली सीरीज उसी ने जीती थी. ऐसे में इंग्लैंड के सामने 18 साल बाद इंग्लैंड में ही एशेज सीरीज हारने का संकट था. लेकिन ओवल टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की टीम इंग्लैंड के सामने 19 ही साबित हुई और वह सीरीज अपने नाम करने में कामयाब न हो सकी. इंग्लैंड के लिए इस टेस्ट में जीत सीरीज जीतने से कम नहीं थी. इसीलिए टीम ने मैच जीतने का जम कर जश्न मनाया.

हार के बाद भी क्यों खुशी से झूमे ऑस्ट्रेलियाई
दरअसल यह खुशी ऑस्ट्रेलिया ने पहले ही तय कर दी थी. चौथे टेस्ट में जीत हासिल कर 2-1 की अजेय बढ़त ने तय कर दिया था कि एशेज ट्रॉफी ऑस्ट्रेलिया के पास ही रहेगी. पिछले एक-डेढ़ साल से चुनौतीपूर्ण दौर से गुजर रही ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए यह किसी बड़ी जीत से कम उपलब्धि नहीं थी. इसी लिए मैच हारने के बावजूद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने जीत की तरह जश्न मनाया. ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ और इंग्लैंड के बेन स्टोक्स को संयुक्त रूप से प्लेयर ऑफ द सीरीज का पुरस्कार मिला. स्टोक्स ने सीरीज के 10 पारियों में 441 रन बनाने के अलावा आठ विकेट भी चटकाए जबकि स्मिथ ने सात पारियों में 774 रन बनाए.

तो फिर टीम इंडिया के लिए क्या रही खुशी
एशेज सीरीज आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप की पहली टेस्ट सीरीज थी. इस सीरीज के बराबर होने से दोनों ही टीमों के टेस्ट चैंपियनशिप के 56-56 अंक मिले. अंक बंटने का फायदा बाकी टीमों के मिलना तय था, खासतौर पर उन टीमों को जो टेस्ट चैंपियनशिप जीतने की दौड़ में सबसे आगे रहना चाहती हैं या पहले से ही आगे हैं. इसमें टीम इंडिया को सबसे ज्यादा फायदा मिलेगा. क्योंकि टीम इंडिया को ये दोनों टीमें ही कड़ी टक्कर देंगी. फिलहाल टीम इंडिया प्वाइंट टेबल में 120 अंकों के साथ टॉप पर मौजूद है. जबकि दूसरे स्थान पर न्यूजीलैंड और तीसरे स्थान पर श्रीलंका 60-60 अंकों के साथ मौजूद हैं. सूची में ऑस्ट्रेलिया चौथे और इंग्लैंड पांचवे स्थान पर हैं.