close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ASHES: फॉर्म से खुश पैट कमिंस खेलना चाहते हैं पूरी सीरीज, यह है दिक्कत

एशेज सीरीज के पहले टेस्ट में शानदार बॉलिंग करने वाले पैट कमिंस चाहते हैं वे सीरीज के सारे टेस्ट खेलें जबकि उनके कोच जस्टिन लैंगर कह चुके हैं कि खिलाड़ियों को रोटेट किया जा सकता है.

ASHES: फॉर्म से खुश  पैट कमिंस खेलना चाहते हैं पूरी सीरीज, यह है दिक्कत
पैट कमिंस ने पहले एशेज टेस्ट में स्टार्क हेजलवुड की कमी को पूरा किया था. (फोटो :PTI)

लंदन: विश्व कप के 15 दिन बाद ही एशेज सीरीज (Ashes 2019) की शुरूआत इंग्लैंड टीम के लिए अच्छी नहीं रही.एक अगस्त ने अपने ही घर में इंग्लैंड ने इस सीरीज के पहले मैच में ही झटका खाया और पहला टेस्ट में उसे हार का सामना करना पड़ा. इस टेस्ट में जीत से ऑस्ट्रेलिया की टीम में काफी उत्साह है. टीम की गेंदबाजी शानदार रही. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया का पेसर पैट कमिंस (Pat Cummins) ने शानदार बॉलिंग की और पहली पारी में तीन और दूसरी पारी में चार विकेट लिए. सीरीज से पहले ही टीम के कोच लैंगर ने साफ कर दिया था कि टीम में तेज गेंदबाजों को रोटेट किया जा सकता है. वहीं  कमिंस की इच्छा है कि वे सीरीज के सभी मैच खेलें.

क्या है कमिंस के खेलने में
सीरीज का दूसरा टेस्ट बुधवार को लॉर्ड्स के मैदान पर शुरू होगा. पहले मैच में कमिंस की शानदार बॉलिंग के दम पर ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को 251 रन से हराने में कामयाबी हासिल की थी. पहले मैच में जोश हेजलवुड और मिचेल स्टार्क को शामिल नहीं किया गया था. टीम में पैट कमिंस के अलावा जेम्स पैटिसन और पीटर सिडल को मौका दिया गया था. दूसरी पारी में पैट कमिंस के अलावा  केवल नाथन लायन ही सफल गेंदबाज रहे थे. उन्होंने इस पारी में छह विकेट लिए थे. अब बाकी टेस्ट में हेजलवुड और स्टार्क को मौका मिलेगा. ऐसे में कमिंस को सभी मैच खेलने मिले मुश्किल ही लग रहा है.

यह भी पढ़ें: IND vs WI: भुवनेश्वर ने खोला राज, विराट कोहली सेंचुरी लगाने के लिए क्यों थे बेताब

क्या कमिंस ने
कमिंस ने लंदन में पत्रकारों से बात करते हुए कहा, “व्यक्तिगत रूप से मुझे लगता है कि मैं हर मैच में खेलूं. मैं फिट हूं और उम्मीद के मुताबिक बढ़िया गेंदबाजी कर रहा हूं. यह भी अच्छी बात है कि टीम के पास बहुत से बढ़िया गेंदबाज हैं. मेरी सीरीज के पहले टेस्ट में वापसी हुई थी और मैं खुद को खुशकिस्मत मानता हूं कि हमें लंबा ब्रेक मिला. मैं जानता था कि हमें दस दिन का गैप मिलेगा, इससे हमें आखिरी दिन ज्यादा जोर लगाने में मदद मिली. अब मैं बढ़िया महसूस कर रहा हूं. मैंने पिछले कुछ समय ज्यादा कुछ नहीं किया. अब मैं 100 प्रतिशत महसूस कर रहा हूं.”

ऐसै जीता ऑस्ट्रेलिया ने पहला टेस्ट
सीरीज से पहले माना जा रहा था कि ऑस्ट्रेलिया के यह सीरीज बचाना मुश्किल होगा, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने क्रिकेट पंडितों के सारे अनुमान गलत साबित कर दिए. इस मैच में पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने स्टीव स्मिथ के 144 रन की पारी की मदद से 284 रन बनाए थे जिसके जवाब में इंग्लैंड की टीम ने रोरी बर्न की सेंचुरी और रूट-स्टोक्स की हाफ सेंचुरी के दम पर 374 रन बनाए थे. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने स्टीव स्मिथ-मैथ्यू वेड के शतकों की मदद से इंग्लैंड को जीत के लिए 398 रन का लक्ष्य दिया था, लेकिन नाथन लॉयन और कमिंस ने टीम को 146 पर समेट दिया और 251 रन से टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया के नाम कर दिया. 

(इनपुट रायटर्स)