close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

श्रीनिवासन की बेटी रूपा ने रचा इतिहास, देश के किसी भी क्रिकेट बोर्ड की पहली अध्यक्ष बनीं

बीसीसीआई की प्रशासकों की समिति (सीओए) ने टीएनसीए के नए संविधान को गलत बताया है. 

श्रीनिवासन की बेटी रूपा ने रचा इतिहास, देश के किसी भी क्रिकेट बोर्ड की पहली अध्यक्ष बनीं
रूपा गुरुनाथ मयप्पन बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन की बेटी हैं. (फोटो साभार: @TNCACricket/twitter)

चेन्नई: बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन (N. Srinivasan) की बेटी रूपा गुरुनाथ को तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन (टीएनसीए) का नया अध्यक्ष चुना गया है. रूपा को गुरुवार को यहां टीएनसीए (TNCA) की 87वीं वार्षिक आम सभा (एजीएम) बैठक में निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया. रूपा गुरुनाथ (Rupa Gurunath) बीसीसीआई के किसी भी राज्य संघ की अध्यक्ष बनने वाली पहली महिला हैं. हालांकि, उनके अध्यक्ष बनने की औपचारिक घोषणा नहीं की गई है. ऐसा सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत किया गया है. 

तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन (टीएनसीए) के चुनाव का मामला सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में है. कोर्ट ने चुनाव कराने का आदेश देते हुए एक शर्त जोड़ी थी. इसके मुताबिक चुनाव तो होंगे, लेकिन रिजल्ट कोर्ट के आदेश के बाद ही जारी किए जा सकते हैं. रूपा गुरुनाथ ने टीएनसीए (TNCA) के अध्यक्ष पद के लिए बुधवार को ही नामांकन करने के अंतिम दिन अपना पर्चा भरा था.

यह भी पढ़ें: सौरव गांगुली फिर चुने गए सीएबी अध्यक्ष, पर एक साल के भीतर ही छोड़ना होगा पद

इस बीच बीसीसीआई की प्रशासकों की समिति (सीओए) ने टीएनसीए के नए संविधान को लोढ़ा समिति की सिफारिशों के मुताबिक गलत बताया है. सीओए (CoA) ने कहा है कि टीएनसीए चार अक्टूबर तक अपने संविधान पर दोबारा काम करें, ताकि 23 अक्टूबर को होने वाली बीसीसीआई की एजीएम में शामिल हो सके. टीएनसीए के वकील अमोल चिताले ने यह भी साफ किया है कि इस तरह का अंतिम फैसला सुप्रीम कोर्ट ही लेगा. 
 

 

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने 20 सितंबर को अपने फैसले में टीएनसीए के नए अधिकारियों को चुनने के लिए चुनाव आयोजित कराने की अनुमति दी थी. जस्टिस एस ए बोबदे और एल नागेश्वर राव की बेंच ने कहा था कि चुनाव का परिणाम अंतिम आदेश की तरह ही होगा. 
 

यह भी पढ़ें: कोहली लिख रहे नया इतिहास; दुनिया के टॉप-3 कप्तानों में शामिल, जानें कहां हैं धोनी

इस बीच गुरुवार को ही पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) एक बार फिर बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) के अध्यक्ष चुन लिए गए हैं. चुनाव अधिकारी ने बताया कि सौरव के साथ चार अन्य अधिकारियों को निर्विरोध चुना गया है. गांगुली जुलाई 2020 तक सीएबी ( CAB) के अध्यक्ष रहेंगे. इसके बाद वे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के संविधान के मुताबिक ‘कूलिंग ऑफ पीरियड’ पर चले जाएंगे.