IPL से बाहर होने के बाद भर आया CSK के इस खिलाड़ी का दिल, भारत को लेकर दिया बड़ा बयान
X

IPL से बाहर होने के बाद भर आया CSK के इस खिलाड़ी का दिल, भारत को लेकर दिया बड़ा बयान

आईपीएल में दुनियाभर का हर एक खिलाड़ी खेलना चाहता है. इसके पीछे कारण ये है कि इस लीग से दौलत और शौहरत दोनों ही भरपूर मिलती हैं. इस लीग में खेलने वाले हर खिलाड़ी को भारत देश से प्यार हो जाता है. ऐसा ही कुछ हाल ही में देखने को भी मिला है. 

 

IPL से बाहर होने के बाद भर आया CSK के इस खिलाड़ी का दिल, भारत को लेकर दिया बड़ा बयान

नई दिल्ली: आईपीएल में दुनियाभर का हर एक खिलाड़ी खेलना चाहता है. इसके पीछे कारण ये है कि इस लीग से दौलत और शौहरत दोनों ही भरपूर मिलती हैं. वहीं कई युवा खिलाड़ियों के करियर भी इस लीग में बेहतरीन प्रदर्शन करके बनते हैं. इसके अलावा विदेशी खिलाड़ी भी इस लीग को सबसे ज्यादा पसंद करते हैं. कई विदेशी खिलाड़ियों ने आईपीएल के जरिए ही पूरी दुनिया में खूब नाम कमाया है. 

आईपीएल ने इस खिलाड़ी को बनाया ब्रांड 

वेस्टइंडीज के पूर्व ऑलराउंडर और सीएसके की ओर से खेलने वाले ड्वेन ब्रावो का मानना है कि भारत ने उन्हें वह ब्रांड बनने का मौका दिया है, जो वह वर्तमान में हैं. उन्होंने कहा कि भारत में फैंस के प्यार के कारण देश उनके दिल के बहुत करीब हो गया है. ब्रावो अब अपने क्रिकेट करियर और संगीत के अलावा 'डीजेबी47 फैशन लेबल' के साथ एक नई पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं, जो भारत में अगले साल लॉन्च के साथ ऑनलाइन उपलब्ध होगा.

भारत की तारीफ

ब्रावो ने आईएएनएस के साथ एक विशेष बातचीत में कहा, 'यह मेरे लिए बहुत खास है। क्योंकि मुझे नहीं लगता कि मैं आज भारत के बिना आधा भी ब्रांड होता. यह एक सच्चाई है और मैं भारत का आभार जताना चाहता हूं. जो मेरे घर से बहुत दूर है. मुझे यहां के लोगों से जो प्यार मिला है. इसलिए निश्चित रूप से मेरे दिल के बहुत करीब है. यही कारण है कि जब मैं संगीत या क्रिकेट की बात करता हूं, तो उसमें हमेशा भारतीय उपस्थिति होती है.'

बायो-बबल पर कही ये बात

बायो-बबल में क्रिकेट खेलने के बारे में बात करते हुए ब्रावो ने अपनी चुनौतियों को स्वीकार किया, लेकिन साथ ही सकारात्मक पहलुओं पर भी ध्यान केंद्रित करने पर जोर दिया. ब्रावो के अनुसार, 'मेरे लिए व्यक्तिगत रूप से ऐसे क्षण आए हैं, जहां यह चुनौतीपूर्ण लगा है. मेरे कहने का मतलब है कि कोरोना महामारी में बहुत से लोगों ने अपनी नौकरी खो दी और कुछ लोगों ने अपनी जान गंवा दी. हम अभी भी दुनियाभर में अपने फैंस के लिए काम करने, खेलने, कमाने और मनोरंजन करने में सक्षम हैं. इसलिए, मैं हमेशा सकारात्मक पक्ष को देखता हूं. इस तरह में बायो-बबल से निपटता हूं.'  वहीं, 38 साल की उम्र वाले इस खिलाड़ी ने उम्मीद जताई है कि बायो-बबल जल्द ही खत्म हो जाएगा.

भारत में करने जा रहे नई शुरुआत

ब्रावो के मुताबिक, 'मैं हमेशा से फैशन में शामिल होना चाहता था, क्योंकि मैं ड्रेसिंग करना पसंद करता हूं. अब मेरा अपना ब्रांड है और अब लोग मेरे ब्रांड का सामान पहनना चाहते हैं तो इसलिए मैं सही दिशा में कदम उठा रहा हूं. उन्होंने आगे कहा कि मैं खुद को एक ऐसे ब्रांड के रूप में देखना चाहता हूं, जिससे लोग खुद को जोड़ना चाहे.' ब्रावो ने कहा, 'यह एक ट्रेंडी ब्रांड है, जो युवाओं, बच्चों और उनके माता-पिता को डीजे ब्रावो ब्रांड द्वारा बनाए गए कपड़े पहनने के लिए आकर्षित करेगा. उम्मीद है कि यह न केवल भारत में बल्कि ऑस्ट्रेलिया, यूके, कैरिबियन और यूएस जैसे स्थानों में विस्तारित होगा. यही मेरा अंतिम लक्ष्य है.'

VIDEO-

Trending news