2 ओवर फेंकने के बाद बॉलर के सीने में उठा दर्द, मैदान पर गिरते ही तोड़ दिया दम

न्यूज़ीलैंड में भारतीय मूल के एक खिलाड़ी हरीश गंगाधरन की बीते शनिवार क्रिकेट के मैदान पर समय मौत हो गई जब वह अपने क्लब के लिए क्रिकेट खेल रहे थे. 

2 ओवर फेंकने के बाद बॉलर के सीने में उठा दर्द, मैदान पर गिरते ही तोड़ दिया दम
गंगाधरन टीम के लिए बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी की शुरुआत करते थे.

नई दिल्ली: भारतीय टीम ने न्यूज़ीलैंड को वनडे सीरीज में 4-1 से हराकर जहां हर भारतीय का दिल खुश कर दिया है, वहीं न्यूजीलैंड से न्यूज़ीलैंड से एक बेहद दर्दनाक घटना सामने आ रही है. न्यूज़ीलैंड में भारतीय मूल के एक खिलाड़ी हरीश गंगाधरन की बीते शनिवार क्रिकेट के मैदान पर समय मौत हो गई जब वह अपने क्लब के लिए क्रिकेट खेल रहे थे. 

खबरों के मुताबिक, गंगाधरन ने मैच में सिर्फ दो ओवर गेंदबाज़ी की. जिसके बाद उन्हें सांस लेने में तकलीफ हुई. लेकिन इसके बाद उन्हें राहत नहीं मिली और वही मैदान पर गिर गए. उन्हें तत्काल इमरजेंसी सुविधा दी गई लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. भारत के 33 वर्षीय हरीश गंगाधरन ने शनिवार को ग्रीन आइसलैंड के डुनेडिन के सनीवेल स्पोर्ट्स सेंटर पर करीब शाम 4 बजे अंतिम सांस ली. उनकी पत्नी निशा हरीश और उनकी तीन साल की बेटी इस घटना के बाद सदमे हैं. 

ग्रीन आइसलैंड क्रिकेट क्लब के प्रेसिडेंट जॉन मोएल ने इस घटना पर द्ख जताते हुए कहा, 'इस खबर की पुष्टि करते हुए मुझे बहुत दुख है कि हमारे क्लब के सदस्य की अचानक मौत हो गई. हरीश गंगाधरन को अचानक सांस लेने में दिक्कत हुई और साथियों की हर कोशिश के बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका.'
 
इस घटना के बाद से टीम के सभी खिलाड़ी सदमे में हैं. गंगाधरन टीम के लिए बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी की शुरुआत करते थे. इस क्लब की स्थापना 1930 में की गई थी. गंगाधरन कोच्चि से ताल्लुक रखते थे और पांच वर्ष पहले न्यूजीलैंड में आकर बस गए थे. 

साथी खिलाड़ियों ने हरीश के बारे में कहा कि वह बेहतरीन ऑलराउंडर थे. साथी खिलाड़ी साइरस बारनाबस ने बेहद भावुक स्वर में कहा कि गंगाधरन ने मैच से पहले तीन बातों पर चर्चा की थी. गंगाधरन ने कहा था कि पूरे 50 ओवर खेलेकर कम से कम 250 का स्कोर बनाएंगे और कोई एक खिलाड़ी शतक लगाएगा. 

एल्बियन के खिलाड़ी बल्लेबाजी करते हुए उनकी टीम ने ये तीनों लक्ष्य हासिल किए. बारनाबस ने खुद शतक लगाया और हरीश ने अंत तक उनका साथ दिया. हरीश 30 रन पर नाबाद रहे. लेकिन अफसोस कि हरीश अब इस दुनिया में नहीं हैं.