IPL-12: दिल्ली के पास पहली बार फाइनल में जाने का मौका, सामने है धोनी की चेन्नई का चैलेंज

इंडियन टी20 लीग (आईपीएल) में शुक्रवार को दिल्ली और चेन्नई की टीमें क्वालिफायर-2 (Qualifier-2) में आमने-सामने होंगी. 

IPL-12: दिल्ली के पास पहली बार फाइनल में जाने का मौका, सामने है धोनी की चेन्नई का चैलेंज

नई दिल्ली: इंडियन टी20 लीग (आईपीएल) के 12वें सीजन में दिल्ली की टीम नाम बदलकर उतरी और ऐसा करना उसके लिए ऐतिहासिक साबित हो रहा है. श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) की अगुवाई में यह टीम एलिमिनेटर मुकाबला जीतकर क्वालिफायर-2 (Qualifier-2) में पहुंच गई है. अब उसकी निगाहें पहली बार फाइनल में पहुंचने पर है. क्वालिफायर-2, आईपीएल का सेमीफाइनल जैसा मुकाबला है, जिसमें उसके सामने तीन बार की चैंपियन चेन्नई की टीम होगी. एमएस धोनी (MS Dhoni) की टीम पिछले साल की चैंपियन भी है. उसके पास लगातार दूसरी बार फाइनल में जगह बनाने का मौका है. 

दिल्ली (Delhi Capitals) और चेन्नई (Chennai Super Kings) की टीमें लीग राउंड में 9-9 मैच जीतकर प्लेऑफ में पहुंची हैं. प्लेऑफ में चेन्नई की टीम एक मैच हार चुकी है. दूसरी ओर, दिल्ली की टीम ने प्लेऑफ में भी जीत की कायम रखी और एलिमिनेटर में हैदराबाद को हराया. अब शुक्रवार (10 मई) को क्वालिफायर-2 मुकाबले में उसके सामने चेन्नई की टीम है. दिल्ली की टीम अपनी जीत का सिलसिला कायम रखते हुए फाइनल में जगह बनाने की कोशिश करेगी. दूसरी ओर, चेन्नई की टीम मुंबई से मिली हार को भुलाकर खिताबी मुकाबले में जाना चाहेगी. मुंबई की टीम चेन्नई को हराकर फाइनल में पहले ही पहुंच चुकी है. 

यह भी पढ़ें: भारत के खिलाफ पाकिस्तानी खिलाड़ी 'सुसाइड बॉम्बर' जैसे हो जाते थे, अफरीदी का खुलासा

दिल्ली और चेन्नई का यह मुकाबला विशाखापत्तनम के डॉ. वाई राजशेखरेड्डी एसीए-वीडीसीए क्रिकेट स्टेडियम में होना है. महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई के लिए दूसरा क्वालीफायर कांटे भरे रास्ते से कम नहीं होगा क्योंकि दिल्ली की टीम इस समय शानदार फॉर्म में है. दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर, ओपनर शिखर धवन, पृथ्वी शॉ और ऋषभ पंत चारों ही बेहतरीन फॉर्म में हैं. चेन्नई के गेंदबाजों के लिए इन चारों को रोकना मुश्किल साबित हो सकता है. 

गेंदबाजी की बात करें तो धीमे विकेट पर चेन्नई की गेंदबाजी मजबूत नजर आती है. उसके पास इमरान ताहिर, हरभजन सिंह, रवींद्र जडेजा के रूप में तीन बेहतरीन स्पिनर हैं. ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो अपनी गेंदबाजी में स्लोअर का प्रभावी तरीके से इस्तेमाल करते हैं. दीपक चाहर नई गेंद से बेहतरीन गेंदबाजी कर रहे हैं. ऐसे में इस मैच में दिल्ली के बल्लेबाजों और चेन्नई के गेंदबाजों के बीच अच्छा मुकाबला हो सकता है. 

यह भी पढ़ें: IPL-12: पृथ्वी शॉ ने भरी हुंकार- चेन्नई के चैलेंज के लिए तैयार है दिल्ली

चेन्नई की बल्लेबाजी में काफी अस्थिरता नजर आती है. उसके ओपनर शेन वाटसन और अंबाती रायडू के प्रदर्शन में काफी उतार चढ़ाव देखने को मिला है. ऐसे में कप्तान एमएस धोनी, सुरेश रैना और फाफ डू प्लेसिस पर रन बनाने का दबाव बढ़ जाता है. ऐसे में अगर दिल्ली के गेंदबाज चेन्नई को शुरुआती झटके देने में कामयाब हो जाते हैं, तो वे विरोधी टीम पर दबाव बना सकते हैं. चेन्नई के लिए सबसे अच्छी बात यह है कि उसके कप्तान एमएस धोनी बेहतरीन फॉर्म में हैं. दिल्ली की गेंदबाजी ट्रेंट बोल्ट, इशांत शर्मा, अमित मिश्रा, अक्षर पटेल और कीमो पॉल संभाल सकते हैं. 

इनमें से चुनी जाएंगी टीमें: 
चेन्नई:
महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), अंबाती रायडू, शेन वाटसन, सुरेश रैना, केदार जाधव, रवींद्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, हरभजन सिंह, इमरान ताहिर, मुरली विजय, ध्रुव शौरे, फाफ डु प्लेसिस, मिचेल सैंटनर, डेविड विली, सैम बिलिंग्स, मोनू कुमार, कर्ण शर्मा, मोहित शर्मा. 

दिल्ली: श्रेयस अय्यर (कप्तान), ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, अमित मिश्रा, आवेश खान, राहुल तेवतिया, जयंत यादव, कॉलिन मुनरो, क्रिस मॉरिस, संदीप लामिछाने, ट्रेंट बोल्ट, शिखर धवन, हनुमा विहारी, अक्षर पटेल, इशांत शर्मा, अंकुश बैंस, नाथू सिंह, कॉलिन इंग्राम, शेरफेन रदरफोर्ड.